CAA के समर्थन में चला मिस्ड कॉल कैंपेन ‘हनी ट्रैप’ में बदला, ट्रोल हुई BJP

शनिवार की शाम ट्विटर पर भूचाल सा आ गया जब पता चला कि इसी टोल फ्री नंबर पर मिस्ड कॉल देने से नेटफ्लिक्स का 6 महीने का सब्सक्रिप्शन मिल सकता है.

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) पर समर्थन पाने के लिए सरकार विभिन्न स्तरों पर कैंपेन चला रही है. बीजेपी ने एक टोल फ्री नंबर जारी करके उस पर मिस्ड कॉल देने की अपील की है. लेकिन अब यह टोल फ्री नंबर दूसरी वजहों से चर्चा में है.

शनिवार की शाम ट्विटर पर भूचाल सा आ गया जब पता चला कि इसी नंबर पर मिस्ड कॉल देने से नेटफ्लिक्स का 6 महीने का सब्सक्रिप्शन मिल सकता है. ये नंबर किसी को खोया हुआ फोन दिला सकता है. किसी को 15 लाख रुपए दिला सकता है. किसी को टेंपरेरी/परमानेंट जॉब दिला सकता है. ऐसे बहुत से लुभावने पोस्ट इसी नंबर पर मिस्ड कॉल देने की अर्जी के साथ मिले.

लोगों के मनोविज्ञान से खेलते हुए झूठे और प्रलोभन वाले मैसेज पोस्ट करके इस टोल फ्री नंबर पर लोगों से कॉल करने को कहा गया ताकि ज्यादा से ज्यादा मिस्ड कॉल प्राप्त हों. ऐसे ही एक पोस्ट का संज्ञान लेकर नेटफ्लिक्स ने लिखा ‘ये पूरी तरह फर्जी है. अगर आप फ्री नेटफ्लिक्स चाहते हैं तो हमारी तरह किसी और का अकाउंट इस्तेमाल करें.’

इस मुद्दे पर बीजेपी की ट्रोलिंग शुरू हो गई और इसे आईटी सेल की ओछी हरकत बताया गया. देखें ट्विटर रिएक्शन:

ये भी पढ़ेंः

वीर सावरकर और ननकाना साहिब को लेकर ट्विटर पर कांग्रेस-बीजेपी में जंग, पढ़ें- किसने क्या कहा

फेक न्यूज और पोर्न कंटेट पर लगाम जल्द, सोशल मीडिया की सख्त निगरानी करेगी सरकार