FactCheck: लोकसभा चुनावों में हो रहा नकली उंगलियों का इस्तेमाल!

फेसबुक और ट्विटर में कटी हुई उंगलियों की एक तस्वीर खूब शेयर हो रही है, लोगों के मुताबिक इनका इस्तेमाल चुनावों में छेड़छाड़ के लिए हो रहा है.

नई दिल्ली: हाल फिलहाल में सोशल मीडिया पर कटी हुई उंगलियों की फोटो वायरल हो रही है. बताया जा रहा है कि ये उंगलियां आर्टिफिशियल हैं और इन्हें चुनाव में फर्जीवाड़े के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है. पूर्व चुनाव आयुक्त एस वाय कुरैशी ने एक ट्वीट के जरिए इन उंगलियों की तस्वीर को पोस्ट किया था, उनके मुताबिक वाट्सएप मैसेज पर उन्हें ये तस्वीर भेजी गई थी.

prosthetic-fingers-viral-as-fake-fingers-made-for-casting-votes-in-loksabha-elections, FactCheck: लोकसभा चुनावों में हो रहा नकली उंगलियों का इस्तेमाल!

इतना ही नहीं फेसबुक और ट्विटर पर इस फोटो को खूब शेयर किया गया है.

इस पोस्ट के साथ कैप्शन लिखा गया है ‘Fake fingers being made for casting votes, I don’t know where we are going?’ यानी कि ‘वोट डालने के लिए नकली उंगलियां बनाई जा रही हैं, मुझे नहीं मालूम कि हम कहां जा रहे हैं’.

चुनावी माहौल में सोशल मीडिया को प्रचार-प्रसार का जरिया बनाया जा चुका है. हाल ये है कि फेसबुक और ट्विटर पर धड़ल्ले से फर्जी खबरें फैल रही हैं.

2017 में भी वायरल हुई थी फोटो
कटी उंगलियों की ये तस्वीर पहली बार वायरल नहीं हुई है. 2017 के विधानसभा चुनावों के दौरान भी इस पोस्ट को तेजी से शेयर किया गया था. फर्जी खबरें फैलाने वालों में शामिल अभिषेक मिश्रा ने पोस्ट को वायरल किया था. बता दें कि अभिषेक नामी फेसबुकिया हैं, पार्टियों की आईटी सेल के लिए काम करते हैं, अपनी ऊटपटांग टिप्पणी की वजह से जेल भी जा चुके हैं.
prosthetic-fingers-viral-as-fake-fingers-made-for-casting-votes-in-loksabha-elections, FactCheck: लोकसभा चुनावों में हो रहा नकली उंगलियों का इस्तेमाल!
उंगलियां आर्टिफिशियल हैं और खबर झूठी
सीधी सी बात है कि ये लोकसभा चुनाव के लिए ऐसी किसी तरह की आर्टिफिशियल उंगलियों का इस्तेमाल नहीं हो रहा है. ये तस्वीर जापान की है. द गार्डियन के एक आर्टिकल के मुताबिक, जापान की डॉक्टर युकाको फुकुशिमा इन उंगलियों को बनाती हैं. ताकि वो लोग इन उंगलियों को लगा जा सकें, जिनकी उंगलियां किसी वजह से कट जाती हैं. इसके अलावा जापान में क्रिमिनल गैंग यज़ुका के अपराधी भी इस तरह की नकली उंगलियों का इस्तेमाल करते हैं.


इन उंगलियों का देश में हो रहे चुनावों से कोई वास्ता नहीं है. महज आर्टिफिशियल उंगलियों के इस्तेमाल से एक से अधिक बार वोट डालना मुमकिन नहीं है. चुनावों के वेरीफिकेशन की प्रक्रिया लंबी होती है. उंगली में निशान लगाना इस प्रोसेस का एक छोटा हिस्सा मात्र है.