क्या सऊदी अरब में भीषण गर्मी के असर से पिघलने लगी कारें?

सोशल मीडिया पोस्ट के मुताबिक ये फोटो 5 जून की है और फोटो में दो कारों का बंपर पिघला हुआ दिख रहा है.

नई दिल्ली: इन दिनों गर्मी की तपिश जोरों पर है. हाल यूं है कि सूरज ढलने के बाद भी गर्मी के थपेड़े कम नहीं हो रहे हैं. ऐसे में सोशल मीडिया में एक फोटो वायरल हो रही है. दावा किया जा रहा है कि फोटो सऊदी अरब की है.

फोटो में दो कारों का बंपर पिघला हुआ दिख रहा है. सोशल मीडिया पोस्ट के मुताबिक ये फोटो 5 जून की है, जब सऊदी अरब में गर्मी की वजह से कार तक पिघल गई.

इस तस्वीर के साथ कैप्शन लिखा गया है- ‘सऊदी अरब में आज का तापमान 52 डिग्री सेल्शियस रहा’.

, क्या सऊदी अरब में भीषण गर्मी के असर से पिघलने लगी कारें?

बता दें कि इससे पहले भी इस फोटो को बढ़ती गर्मी की वजह से कार पिघलने के दावे के साथ वायरल किया गया था.

;

52 डिग्री तापमान से कार पिघलने का दावा झूठा है

ये तस्वीर एरिजोना यूनिवर्सिटी की है. Tuscon News Now की रिपोर्ट के मुताबिक 19 जून 2018 को इस यूनिवर्सिटी की एक अंडर कंस्ट्रक्शन बिल्डिंग में आग लग गई थी. आग की वहज से पार्किंग में खड़ी लगभग दर्जन भर कारें क्षतिग्रस्त हो गईं.

, क्या सऊदी अरब में भीषण गर्मी के असर से पिघलने लगी कारें?

दरअसल कार का बंपर पॉलीप्रोपलीन से बनता है, जोकि 180 डिग्री या इससे अधिक टेम्प्रेचर पर ही पिघलना शुरू होता है. ऐसे में ये बात साफ है कि 52 डिग्री में कार पिघलने का दावा झूठा है.