तूफान ‘वायु’ के कहर से पहले गुजरात हुआ अलर्ट, दो दिन तक बंद रहेंगे स्कूल

चक्रवाती तूफान 12-13 जून को सौराष्ट्र तट पर दस्तक दे सकता है. तूफान के कारण अहमदाबाद, गांधीनगर और राजकोट समेत तटवर्ती इलाके वेरावल, भुज और सूरत में हल्की बारिश हो सकती है.

अहमदाबाद: भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने गुजरात के तटवर्ती इलाकों में चक्रवाती तूफान आने की चेतावनी दी है. मौसम विभाग के अनुसार, अरब सागर से उठने वाला चक्रवाती तूफान वायु 75 किलोमीटर से लेकर अधिकतम 135 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार के साथ प्रदेश के कई इलाकों में चलेगा.

आईएमडी के अनुसार, 90-100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से तेज पवन चलेगा और अरब सागर से लगत उत्तरपूर्वी इलाके में इसकी रफ्तार 115 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है.

मौसम विभाग ने कहा कि 12 जून को दक्षिण गुजरात और महाराष्ट्र के तटवर्ती इलाके में 50-60 किलोमीटर से लेकर 70 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चलेगी और 13 जून को इसकी रफ्तार अरब सागर से सटे उत्तरी इलाके में 110-120 किलोमीटर से लेकर 135 किलोमीटर हो जाएगी.

चक्रवात वायु पर एहतियात बरतते हुए गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने पूरे राज्य में 3 दिवसीय शाला प्रवेशोत्सव को 13 से 15 जून तक रद्द कर दिया है. वहीं 10 जिले जो चक्रवात से प्रभावित हो सकते हैं, वहां के स्कूलों और कॉलेजों में 13 और 14 जून की छुट्टी की घोषणा की है.

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को चक्रवाती तूफान ‘वायु’ की वजह से उत्पन्न होने वाली परिस्थितियों से निपटने के लिए राज्य और केंद्रीय मंत्रालयों और एजेंसियों की तैयारियों का जायजा लिया. तूफान के गुरुवार को गुजरात तट से टकराने की संभावना है.

एक उच्चस्तरीय बैठक में स्थिति की समीक्षा करने के बाद, शाह ने वरिष्ठ अधिकारियों को लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने और सभी जरुरी सामाग्रियों के रखरखाव जैसे बिजली, टेलीकम्युनिकेशन, स्वास्थ्य, पीने का पानी समेत अन्य चीजों को सुनिश्चित करने के लिए कहा है. इसके साथ ही तूफान से क्षति होने की स्थिति में इन चीजों को जल्द से जल्द बहाल करने के आदेश दिए.

आधिकारिक बयान के अनुसार, उन्होंने नियंत्रण कक्षों के 24 घंटों तैनात रहने के भी निर्देश दिए.

विज्ञप्ति के अनुसार, “एनडीआरएफ ने नौकाओं, ट्री-कटर्स, टेलीकॉम सामग्रियों के साथ अपनी 26 टीमों को तैनात किया है और गुजरात सरकार के आग्रह के आधार पर अन्य 10 टीमों को तैयार कर रही है. भारतीय तट रक्षक, नौसेना, थल सेना और वायु सेना को तैयार रखा गया है और निरीक्षक विमान और हेलीकॉप्टर हवाई सर्वेक्षण कर रहे हैं.”

चक्रवाती तूफान से गुजरात के तटीय जिलों में भारी बारिश होने की उम्मीद है. इसके साथ ही 1 से 1.5 तक ज्वार उठने की उम्मीद है जिससे कच्छ, देवभूमि द्वारका, पोरबंदर, जूनागढ़, दीव, गिर सोमनाथ, अमरेली और भावनगर के निचले जिलों में पानी भरने की संभावना है.

(Visited 397 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *