आंधी-तूफान में उड़ा पीएम मोदी की रैली का टेंट, गुजरात के साबरकांठा में होनी थी चुनावी सभा

देशभर में आंधी-तूफान के कारण करीब 40 लोगों की मौत हुई. इसी तूफ़ान में मोदी की गुजरात में होने वाली रैली का टेंट भी उड़ गया.

अहमदाबाद. देशभर में मंगलवार को आए बारिश, आंधी-तूफान और आकाशीय बिजली गिरने से कई जगहों पर जान-माल का भारी नुकसान तो हुआ ही, साथ ही ये तूफ़ान नरेंद्र मोदी की रैली का टेंट भी उड़ा ले गया. गुजरात के साबरकांठा में मोदी की चुनावी सभा होनी थी. लेकिन मंगलवार रात आए आंधी-बारिश की वजह से सारे टेंट उड़ गए और रैली की व्यवस्था को नुकसान पहुंचा. रैली में आये लोगों के लिए छाया और स्टेज पर नेताओं के बैठने के लिए टेंट लगाए गए थे. हालांकि, रात भर में रैली स्थल को ठीक कर दिया गया.

उत्तरी भारत के गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, दिल्ली, राजस्थान, झारखंड, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा जैसे राज्यों में भारी नुकसान हुआ है. हालांकि, रात में ही सभा स्थल को ठीक भी कर दिया गया. बता दें कि इस तबाही के कारण देश भर में 35 से 40 लोगों की मौत हो गई है और वहीं कई घायल भी हुए हैं.

मोदी की गुजरात में तीन रैलियां

लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के प्रचार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज गुजरात में हैं. उनकी गुजरात में आज तीन जनसभाएं हैं. इसमें सबसे पहली जनसभा साबरकांठा जिले के हिम्मतनगर में दोपहर 2.35 बजे है. इसके बाद पीएम मोदी सुरेंद्रनगर में शाम 4.30 बजे जनसभा करेंगे और फिर आणंद में शाम 6.20 बजे जनसभा को संबोधित करेंगे.

ये भी पढ़ें- देश के कई हिस्सों में आंधी-तूफान का कहर, 40 की मौत

आंधी-तूफ़ान से गुजरात में 11 लोगों की मौत

गुजरात में 11 लोगों की मौत हुई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात में इस तूफान के कारण मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की. पीएम ने मरने वालों के लिए परिवारों को पीएम नेशनल रिलीफ फंड से 2-2 लाख रुपए देने की घोषणा की है. इसके अलावा गंभीर रूप से घायल हुए लोगों के लिए 50 हजार रुपए देने की बात कही गई है.

ये भी पढ़ें- सिर्फ गुजरात के लिए दुःख जताने पर कमलनाथ ने PM को घेरा, फिर NaMo ने दिए 2-2 लाख

मध्य प्रदेश समेत बाकी देश में जान-माल का नुक्सान

मध्य प्रदेश में आकाशीय बिजली गिरने के कारण 15 लोगों के मरने की खबर सामने आई है. सूबे के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मृतक के परिवारों के लिए ट्वीट कर संवेदना व्यक्त की. कमलनाथ ने लिखा, आकाशीय बिजली गिरने से इंदौर, धार, और प्रदेश के अन्य स्थानों पर जनहानि की बेहद दुखदायी घटनाएं सामने आई. पीड़ित परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाए. मैं और मेरी सरकार दुख की इस घड़ी में पीड़ित परिवार के साथ खड़े हैं.

मध्य प्रदेश और गुजरात के अलावा इस तबाही में राजस्थान में 7, पंजाब में 2, हरियाणा, झारखंड, महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश और हिमाचल प्रदेश में 1-1 की मौत हुई है. वहीं मौसम विभाग का कहना है कि बुधवार और गुरुवार को भी इसी तरह मौसम खराब रह सकता है.