IAS अधिकारी पर महिला ने लगाया धोखाधड़ी का आरोप, बताया आपनी 8 साल की बेटी का पिता

IAS अधिकारी गौरव दहिया को उसकी आठ महीने की बेटी का पिता बताया हुए महिला ने दावे की पुष्टि के लिए DNA जांच की मांग की है.

अपनी बेटी के हक के लिए दिल्ली की महिला गांधीनगर के पुलिस महानिदेशक शिवानंदा झा और गुजरात के महिला आयोग की अध्यक्ष लीलाबेन अंकोलिया के पास जा पहुंची. महिला ने गुजरात के IAS अधिकारी गौरव दहिया को उसकी आठ महीने की बेटी का पिता बताया है. महिला ने अपने इस दावे की पुष्टि के लिए DNA जांच की मांग की है.

महिला का IAS दहिया पर आरोप है कि अधिकारी ने धोखे से उससे दूसरी शादि की है. महिला की शिकायत पर गुजरात सरकार ने 14 अगस्त को 2010 बैच के IAS अधिकारी को कार्य से निलंबित कर दिया था. इस केस पर आगे की कार्रवाई के लिए मंगलवार को महिला ने गुजरात के गांधीनगर पुलिस महानिदेशक शिवानंदा झा और गुजरात के महिला आयोग की अध्यक्ष लीलाबेन अंकोलिया के साथ मुलाकात की.

मीडिया से बातचीत के दौरान महिला ने कहा, ‘DNA टेस्ट के बाद यह बात साफ हो जाएगा कि मेरी बेटी का पिता गौरव दहिया ही है. मैं लड़ाई लड़ूंगी अपनी बेटी के कानूनी हक के लिए. दहिया को उसे अपनी बेटी के रूप में अपनाना होगा और अपना नाम देना होगा.’

गांधीनगर पुलिस महानिदेशक से मुलाकात के दौरान महिला ने यह बताया कि दिल्ली में वह अकेली रहती है और उसे गौरव दहिया से जान का खतरा है. उन्होंने गुजरात महिला आयोग से दिल्ली महिला सेल में दर्ज FIR की कॉपी को गुजरात पुलिस स्टेशन में ट्रांसफार कराने में मदद की मांग भी की है.

गुजरात महिला आयोग की अध्यक्ष लीलाबेन अंकोलिया का कहना है कि महिला कि शिकायत पर दो बार पहले भी गौरव के खिलाफ नोटिस जारी कर उसे भेजा जा चुका है, लेकिन एक बार भी वह आयोग के सामने उपस्थित नहीं हुआ. इस बार महिला कि शिकायत पर आयोग उन्हें उपस्थित होने के लिए तीसरी बार नोटिस भेजने की तैयार कर रहा है.

ये भी पढ़ें: सरकार ने शुरू कर दिया है काम, पानी-पानी को तरसेगा पाकिस्तान