अकबर क्या वाकई मीना बाजार में लड़कियों से करते थे छेड़छाड़?

अकबर के शासनकाल में मीना बाजार को काफी प्रसिद्धि मिली. इस दौरान बाजार में काफी दूर-दूर से राजपरिवार के लोग आया करते थे.

नई दिल्ली: राजस्थान बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी ने कहा है कि अकबर मीना बाजार में लड़कियों से छेड़छाड़ करता था. उन्होंने कहा कि अबकर महिलाओं के भेष में मीना बाजार जाकर कुकर्म करता था. मदनलाल सैनी के इस बयान पर विवाद खड़ा हो गया है. सोशल मीडिया पर कई सारे लोग बीजेपी नेता के इस बयान की कड़ी आलोचना कर रहे हैं. इस बीच मीना बाजार की सच्चाई को लेकर भी बहस छिड़ गई है.

हुमायूं के शासनकाल में शुरू हुई मीना बाजार
ये बात सही है कि मुगल काल में ही मीना बाजार लगनी शुरू हुई थी. हुमायूं के शासनकाल से मीना बाजार की शुरुआत मानी जाती है. इसे Kuhs Ruz यानी कि ‘खुशी का दिन’ के नाम से भी जाना जाता था. मीना बाजार का आयोजन खासतौर से महिलाओं के लिए किया जाता था.

नए साल के जश्न के रूप में होता था आयोजन
मीना बाजार का आयोजन नए साल के जश्न के रूप में होता था. पांच से आठ दिन के लिए मुगल शाही परिवार की महिलाएं, राजपूतों की रानियां अपनी दुकान लगाती थीं. यहां पर बाहर के लोगों का आना-जाना मना था. यहां केवल राजा, राजकुमार या राजमहल के कुछ खास लोगों को ही आने की इजाजत थी.

गरीबों में बांटा जाता था धन
मीना बाजार में सामानों को काफी ऊंचे दामों पर बेचा जाता था. राजमहल के लोग बड़े शौक से ऊंचे दाम पर खरीददारी किया करते थे. खास बात है कि इससे मिलने वाला धन गरीबों के बीच दान कर दिया जाता था.

अकबर के शासनकाल में मिली प्रसिद्धि
अकबर के शासनकाल में मीना बाजार को काफी प्रसिद्धि मिली. बताया जाता है कि अकबर के शासनकाल में मीना बाजार में काफी दूर-दूर से राजपरिवार के लोग आया करते थे. साथ ही वो जमकर खरीददारी करते थे. इससे होने वाली कमाई को गरीबों की सेवा में लगाया जाता था.

सैनी के बयान की प्रमाणिक पुष्टि नहीं
ऐसे में मदनलाल सैनी ने अकबर को लेकर जो बयान दिया है कि वो मीना बाजार में लड़कियों से छेड़छाड़ किया करते थे, इसकी कहीं प्रमाणिक पुष्टि नहीं मिलती है. हालांकि, सोशल मीडिया पर इसे लेकर तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें-

“मुग़ल शासक अकबर मीना बाजार में लड़कियों से करता था छेड़छाड़”

चुनाव जीतना है तो RSS की तरह करो कैंपेन, NCP कार्यकर्ताओं को शरद पवार की नसीहत

मोदी 2.0 में वाजपेयी सरकार के चार मंत्री, जानिए कौन