मास्‍क नहीं पहनने पर 10 हजार का जुर्माना, केरल ने सालभर के लिए जारी कीं Covid-19 सेफ्टी गाइडलाइंस

शादी समारोहों में 50 लोग शामिल हो सकेंगे वहीं अंतिम यात्रा में 20 लोगों को जाने की इजाजत होगी. अधिकारियों से लिखित अनुमति के बिना, किसी भी तरह की सामाजिक सभाओं, गेट-टुगेदर, जुलूस, धरने, मंडली या प्रदर्शनों का आयोजन नहीं किया जा सकता.

केरल सरकार ने कहा है कि कोरोनोवायरस महामारी के लिए अगले एक साल तक सुरक्षा नियमों का पालन करना होगा. सार्वजनिक स्थानों पर मास्क या फेस कवर पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग, उन नियमों में से हैं जो अनिवार्य होंगे. वर्कप्लेस पर भी मास्क पहनना होगा और हर जगह 6 फीट की सोशल डिस्टेंसिंग अनिवार्य होगी. सार्वजनिक स्थलों पर मास्क न पहनने पर 10 हजार रुपये तक का जुर्माना देना पड़ सकता है.

शादी समारोहों में 50 लोग शामिल हो सकेंगे वहीं अंतिम यात्रा में 20 लोगों को जाने की इजाजत होगी. अधिकारियों से लिखित अनुमति के बिना, किसी भी तरह की सामाजिक सभाओं, गेट-टुगेदर, जुलूस, धरने, मंडली या प्रदर्शनों का आयोजन नहीं किया जा सकता. सरकार ने कहा कि इस तरह के समारोहों में शामिल होने वालों की संख्या 10 से ज्यादा नहीं होनी चाहिए.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

दुकानों और अन्य सभी व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में, एक समय में अधिकतम लोगों या ग्राहकों की संख्या 20 से ज्यादा नहीं होनी चाहिए. ये कमरे के साइज पर भी निर्भर कर सकता है, साथ ही सभी ग्राहकों या लोगों को छह फीट की सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखनी होगी. सार्वजनिक स्थानों, सड़कों या फुटपाथों पर थूकना सख्त प्रतिबंधित होगा.

अंतरराज्यीय यात्रा के लिए पास की जरूरत नहीं होगी, लेकिन यात्रियों को Jagratha ई-प्लेटफॉर्म पर रजिस्टर करना होगा. मालूम हो कि केरल वो राज्य है जहां जनवरी महीने में भारत का पहला कोरोना का मामला सामने आया था. फिल्हाल राज्य में कोरोनावायरस संक्रमितों की संख्या 5,204 हो चुकी है और हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक कोरोना पर अब तक काबू पाने में केरल एक सफल राज्य के रूप में उभरा है.

Related Posts