हैदराबाद ट्रेन एक्सीडेंट का CCTV फुटेज आया सामने, देखिए कैसे आमने-सामने हुई ट्रेनों की टक्‍कर

हंड्री एक्सप्रेस स्टेशन पर सिग्नल के लिए रूकी हुई थी. लिंगमपल्ली-फलकनुमा एमएमटीएस ट्रेन उसी ट्रैक में घुस गई और उसके साथ टकरा गई.

हैदराबाद के काचिगुडा रेलवे स्टेशन पर सोमवार को दो ट्रेनों की टक्कर में 12 यात्री घायल हो गए. हादसा सुबह 10.30 बजे हुआ. एक मल्टी-मॉडल ट्रांजिट सिस्टम (एमएमटीएस) ट्रेन कुरनूल सिटी- सिकंदराबाद हंड्री इंटरसिटी एक्सप्रेस से जा टकराई.

हंड्री एक्सप्रेस स्टेशन पर सिग्नल के लिए रूकी हुई थी. लिंगमपल्ली-फलकनुमा एमएमटीएस ट्रेन उसी ट्रैक में घुस गई और उसके साथ टकरा गई. सूचना मिलते ही रेलवे अधिकारियों और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) ने बचाव अभियान शुरू किया.

साउथ सेंट्रल रेलवे (एससीआर) के अधिकारियों ने कहा कि एमएमटीएस ट्रेन के छह डब्बे और हंड्री एक्सप्रेस के तीन कोच दुर्घटना में प्रभावित हुए हैं. साउथ सेंट्रल रेलवे के एडिशनल जनरल मैनेजर ने कहा कि 12 यात्री घायल हुए हैं. उन्हें इलाज के लिए उस्मानिया अस्पताल लाया गया और बाद में उनमें से दो को छुट्टी दे दी गई.

शुरू में यह माना जा रहा था कि दुर्घटना का कारण सिग्नलिंग प्रणाली में तकनीकी त्रुटि रही होगी. लेकिन एससीआर अधिकारियों ने इस संभावना से इनकार कर दिया. उन्होंने टक्कर के लिए मानवीय भूल को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि घटना की उच्च स्तरीय जांच की जाएगी.

हंड्री एक्सप्रेस में सवार एक यात्रि ने कहा कि दुर्घटना उस वक्त हुई, जब ट्रेन ने चलना शुरू कर दिया था. उसने कहा, “इसके प्रभाव से सभी यात्रियों को झटका महसूस हुआ. बच्चे बुरी तरह प्रभावित हुए.”

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि बड़ा हादसा होने से इसलिए टल गया, क्योंकि एमएमटीएस ट्रेन धीरे-धीरे चल रही थी और एक्सप्रेस ट्रेन लगभग रुकी हुई थी. दुर्घटना से काचीगुडा-फलकनुमा सेक्शन पर ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित हुई. कम से कम 10 ट्रेनें रद्द कर दी गईं, पांच अन्य को आंशिक रूप से रद्द कर दिया गया.

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट करके कहा कि हैदराबाद में ट्रेन हादसे की खबर मिली और सहायता और निगरानी के लिए अधिकारियों को तत्काल निर्देश दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि दुर्घटना स्थल पर रेलवे प्रशासन घायलों के इलाज में मदद कर रहा है.

ये भी पढ़ें-

जम्मू-कश्मीर के गांदरबल में मुठभेड़, सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को किया ढेर

खत्म होगा महाराष्ट्र का सियासी संकट? एनसीपी-कांग्रेस की बैठक आज

राज्यपाल ने NCP को दिया सरकार बनाने का मौका, तो शरद पवार ने की उद्धव से फोन पर बात