CM कमलनाथ की बढ़ी मुश्किल, 1984 दंगा मामले में SIT करेगी जांच, MHA ने दी हरी झंडी, VIDEO

सिरसा ने कहा,  "दो गवाह कमलनाथ के खिलाफ गवाही देंगे. उन्होंने कहा, 'दो गवाह अपना लिखित बयान देने को तैयार हैं.

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. एसआईटी ने 1984 सिख दंगों के सिलसिले में मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ खिलाफ मामला खोला है. इंदिरा गांधी की हत्या के बाद सिखों के खिलाफ 1984 के दंगों में उनकी कथित संलिप्तता के मामले में राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ को नए सिरे से जांच का सामना करना पड़ेगा. गृह मंत्रालय ने इसके लिए अनुमति भी दे दी है.

बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिरोमणि अकाली दल ने 1984 सिख दंगों का जिक्र कर मध्यप्रदेश सीएम कमलनाथ पर हमला बोला है. अकाली दल की तरफ से मनजिंदर सिंह सिरसा ने कांग्रेस अध्यक्ष से उन्हें पद से हटाने की मांग की है.

सिरसा ने कहा,  “दो गवाह कमलनाथ के खिलाफ गवाही देंगे. उन्होंने कहा, ‘दो गवाह अपना लिखित बयान देने को तैयार हैं. हमने उनसे आज ही बात की है. जांच कर रही एसआईटी को हमने सूचित किया है. वह कोई एक दिन तय करके गवाही लेगी.’ सिरसा ने बताया कि उन्होंने दोनों गवाहों को सुरक्षा देने की भी मांग उठाई है क्योंकि दोनों एक राज्य के सीएम के खिलाफ गवाही देने वाले हैं.”

शिरोमणि अकाली दल ने कमलनाथ को सीएम पद से हटाए जाने की भी मांग की. सिरसा ने कहा, ‘हम कांग्रेस अध्यक्ष से मांग करते हैं कि वह तत्काल प्रभाव से कमलनाथ से इस्तीफा लेकर उन्हें पद से हटाएं, तब ही सिखों को न्याय मिलेगा.’ सिरसा ने आगे कहा, ‘मुझे लगता है कि कमलनाथ इकलौते ऐसे सीएम बनेंगे जो पद पर रहते हुए 1984 दंगों में गिरफ्तार होंगे.’