मेक्सिको से डिपोर्ट हुए 311 भारतीय दिल्ली पहुंचे, अमेरिका बोला- मानव तस्करों के लिए कड़ा संदेश

डिपोर्ट किए गए लोग कागजी कार्यवाही के चलते कई घंटों तक एयरपोर्ट के अंदर ही रहे. इन लोगों की कुछ फोटोज भी सामने आई हैं.
Mexico Deborted Indian, मेक्सिको से डिपोर्ट हुए 311 भारतीय दिल्ली पहुंचे, अमेरिका बोला- मानव तस्करों के लिए कड़ा संदेश

गैर-कानूनी तरीके से अमेरिका में घुसने की चाहत से मेक्सिकों पहुंचे 311 भारतीयों को मेक्सिको ने वापस भारत डिपोर्ट किया, जिसके बाद आज यानि शुक्रवार को ये सभी भारतीय बोइंग 747-400 चार्टर से दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पहुंचे. डिपोर्ट किए गए लोगों में 310 पुरुष और एक महिला शामिल है.

मेक्सिको से स्पेन के मैड्रिड होते हुए विमान सुबह लगभग 5 बजे दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंचा. डिपोर्ट किए गए लोग कागजी कार्यवाही के चलते कई घंटों तक एयरपोर्ट के अंदर ही रहे. इन लोगों की कुछ फोटोज भी सामने आई हैं.

वहीं इस मसले पर यूनाइटेड स्टेट ने कहा है कि यह कदम मानव तस्करों के लिए एक कड़ा संदेश है. यह बात अमेरिका के कस्टम और बॉर्डर प्रोटेक्शन के एक्टिंग कमीश्नर मार्क मॉर्गन ने एक ट्वीट के जरिए कही.

बता दें कि अमेरिका और मेक्सिको के बीच काफी लंबे समय से इम्मिग्रेंट्स को लेकर विवाद चल रहा है, जिसके बाद मेक्सिको ने यह बड़ा कदम उठाया. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ये भारतीय गैर-कानूनी तरीके से पिछले कुछ महीनों में मेक्सिको पहुंचे थे.

यहां तक पहुंचने के लिए इनकी मदद कुछ अंतरराष्ट्रीय एजेंट्स ने की थी, जिन्होंने उन्हें यूनाइटेड स्टेट में कानूनी तौर पर घुसने का भरोसा दिलाया था. रिपोर्ट के अनुसार, ये लोग मेक्सिको के वेराक्रूज, चिआपास, सोनोरा, ओआजाका, बाजा कैलिफोर्निया, मेक्सिको सिटी, डुरांगो और तबास्को राज्यों में रह रहे थे.

ट्रंप ने दी थी धमकी

जून में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मेक्सिको को चेताया था कि मेक्सिकों की सीमा के जरिए अगर लगातार इम्मिग्रेंट्स ऐसी ही अमेरिका में घुसते रहे तो सभी मेक्सिकों आयातों पर टैरिफ लगा दिए जाएंगे. इसके बाद से ही मेक्सिको सरकार सख्ते में है और वह इम्मिग्रेंट्स को वापस अपने देश डिपोर्ट करने का काम कर रही है.

 

ये भी पढ़ें-  बीए पास वालों के लिए खुशखबरी, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- नहीं मिलनी चाहिए 19,572 से कम सैलरी

श्रीलंका के जाफना से चेन्‍नई के लिए फ्लाइट शुरू, सिविल वॉर की वजह से 40 साल पहले हुआ था बंद

 

Related Posts