इंसानियत की मिसाल: पांच कब्रिस्तान ने गरीब परिवार को लौटाया, हिंदुओं ने दी दफनाने के लिए जमीन

हैदराबाद (Hyderabad) शहर में एक गरीब मुसलमान की मौत के बाद पांच कब्रिस्तानों ने दफनाने के लिए दो गज जमीन देने से मना कर दिया. आखिरकार हिंदु समुदाय की ओर से उसके लिए जमीन देकर सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल पेश की गई.

हैदराबाद में शहर में एक गरीब मुसलमान की मौत के बाद उसे 5 कब्रिस्तानों ने दफनाने से मना कर देने की खबर सामने आई है. इसके बाद स्थानीय हिंदुओं ने बड़ा दिल दिखाते हुए उन्हें दफनाने के लिए जगह दी. वक्फ बोर्ड के चेयरमैन मोहम्मद सलीम ने इस घटना पर कार्रवाई करने की बात कही है. उन्होंने सवाल उठाया कि हमेशा मुसलमानों से हमदर्दी दिखाने वाले AIMIM प्रमुख ओवैसी इस मामले में खामोश हैं.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

हैदराबाद में दो गज जमीन देने से मना कर दिए जाने के बाद उस गरीब मृतक के परिजनों ने शव को लेकर शहर के पांच कब्रिस्तानों के चक्कर लगाए थे.

हिंदुओं ने दी दफनाने की जगह

दरअसल मुसलमानों के प्रमुख त्योहार ईद (Eid) के दिन यानी सोमवार को मोहम्मद खाजा (55 साल) नामक एक गरीब मुसलमान की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी. मौत के बाद गरीब होने की वजह से उनके शव को दफनाने के लिए हैदराबाद के 5 कब्रिस्तानों (Cemetries) में जगह नहीं दी गई. तब हिंदुओं ने सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल कायम करते हुए उन्हें दफनाने के लिए जगह दी. हैदराबाद में यह बहुत बड़ी चर्चा का विषय बना हुआ है. साथ ही इस घटना के बाद हैदराबाद के मुस्लिम समुदाय के लिए यह एक विवाद का कारण भी बन गया है.

मृतक की पत्नी ने बड़े दुख से कहा कि आज तक कभी ऐसा नहीं हुआ कि एक मुसलमान को इस तरह दफनाने के लिए शर्मसार होना पड़ा. उनको दफनाने के लिए उस दिन बहुत तड़पे, कितने कब्रिस्तानों का चक्कर लगाए, एक कब्रिस्तान में गड्ढा भी खोदा गया तो वहां भी रोक दिया गया. हम शव को लेकर कहां जाते, घर में तो शव को दफना नहीं सकते थे. उस दिन हमें बहुत तड़पाया गया.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts