Coronavirus से मरने वाले 50 प्रतिशत लोगों की उम्र 60 साल से ज्यादा

वृद्ध लोग इस कोरोना महामारी (Corona virus pandemic) के चलते हाई रिस्क पर हैं, ऐसे में उन्हें तमाम एहतियात बरतने होंगे. अगर उन्हें कोई लक्षण दिखता है तो उन्हें तुरंत डॉक्टर्स से संपर्क करना चाहिए.
coronavirus, Coronavirus से मरने वाले 50 प्रतिशत लोगों की उम्र 60 साल से ज्यादा

भारत की कुल आबादी में 10 प्रतिशत लोगों की उम्र 60 से ज्यादा है. हालांकि कोरोना महामारी (Corona virus pandemic) से देश में होने वाली मौतों के मामले में इस आयु वर्ग के 50 प्रतिशत लोग हैं. मंगलवार को सरकार की ओर से दी गई जानकारी में बताया गया कि कोरोना (Coronavirus) से हुई मौतों में 73 फीसदी लोग पहले से ही किसी बीमारी से जूझ रहे थे.

जानकारी के मुताबिक देश में 8 प्रतिशत लोगों की उम्र 60 से 74 साल के बीच है, हालांकि कोरोना से होने वाली मौतों के कुल आंकड़ों में इस आयु वर्ग के 38 फीसदी लोग हैं. 74 साल से ज्यादा की उम्र के लोग देश में 2 प्रतिशत ही हैं, वहीं कोरोना से होने वाली मौतों में इस आयु वर्ग के 12 प्रतिशत लोग हैं.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

मालूम हो कि देश में कोरोनावायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. भारत 10 सबसे ज्यादा संक्रमित देशों की लिस्ट में भी आ चुका है. भारत में कोरोनावायरस के कुल आंकड़े 2 लाख से ज्यादा हो चुके हैं. इस महामारी के चलते देश में अब तक 6 हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय के जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने बताया कि भारत दुनिया का सातवां सबसे ज्यादा संक्रमित देश हो चुका है. हालांकि उनका कहना है कि भारत की स्थिति अभी भी कई देशों से बेहतर है. अग्रवाल ने कहा कि कोरोनावायरस से होने वाली मौत का प्रतिशत भारत में 2.82 ही है, जो कि दुनिया में सबसे कम हैं.

उन्होंने बताया कि ग्लोबल फेटेलिटी रेट 6.13 फीसदी है. अग्रवाल ने बताया कि भारत की फेटेलिटी रेट इतनी कम इसलिए है क्योंकि हमने समय पर मामलों की पहचान की है और उन्हें सही उपचार भी मुहैया कराया है. इसी के साथ उन्होंने कहा कि वृद्ध लोग इस महामारी के चलते हाई रिस्क पर हैं, ऐसे में उन्हें तमाम एहतियात बरतने होंगे. अगर उन्हें कोई लक्षण दिखता है तो उन्हें तुरंत डॉक्टर्स से संपर्क करना चाहिए.

Related Posts