यूट्यूब चैनल्स बने कश्मीरियों के एंटरटेनमेंट का जरिया, हंसी-ठिठोली के साथ दे रहे अमन का संदेश

एक कश्मीरी यूट्यूबर का कहना है कि 'कश्मीर में यूट्यूब चैनल चलाना कोई रीयल जॉब नहीं है. हमें यह नहीं पता होता कि कश्मीर में अगले महीने क्या होने वाला है.'
KASHMIRI, यूट्यूब चैनल्स बने कश्मीरियों के एंटरटेनमेंट का जरिया, हंसी-ठिठोली के साथ दे रहे अमन का संदेश

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर से अक्सर हिंसा से जुड़ी खबरें आती रहती हैं. घाटी में पिछले कई सालों से अस्थिरता बनी हुई है. आए दिन सीमा पर मुठभेड़ होती रहती है, तो अक्सर घाटी में बंद की घोषणा कर दी जाती है. इन सबसे घाटी के लोगों का रोजमर्रा का जीवन बुरी तरह से प्रभावित होता है. एंटरटेनमेंट के लिए यहां पर सिनेमा हॉल बहुत कम हैं. टेलीविजन और इंटरनेट ही यहां के लोगों के एंटरटेनमेंट का मुख्य जरिया बना हुआ है.

कश्मीरियों की समस्याओं पर करते हैं बात
घाटी में पिछले कुछ सालों में लोकल यूट्यूब चैनल्स की लोकप्रियता काफी बढ़ी है. कश्मीरी कालखरब, कश्मीरी कॉमेडी किंग्स, कोशुर कलाकार और कश्मीरी रॉउंडर्स ये वो कश्मीरी यूट्यूब चैनल्स हैं जिनके वीडियोज घाटी में खूब देख जा रहे हैं. इन चैनल्स की खास बात ये है कि यहां पर कश्मीरियों के जीवन की समस्याओं को काफी मजेदार ढंग से दिखाया जाता है. लोग हंसते हुए ये वीडियोज देखते हैं और अपने जीवन को बेहतर बनाने की सोचते हैं.

लाखों में हैं सब्सकाइबर्स
कश्मीरी कालखरब पर हाल ही में अपलोड किया गया वीडियो ‘चंगीर घर’ 1.4 मिलियन बार देखा जा चुका है. कश्मीरी कालखरब के 4.2 लाख सब्सक्राइबर्स हैं. सब्सक्राइबर्स के मामले में ये चैनल कश्मीर में टॉप पर है. कश्मीरी कॉमेडी किंग्स के वीडियोज भी काफी पॉपुलर हैं. इस चैनल के 98,000 सब्सक्राइबर्स हैं. खास बात यह है कि ये चैनल पिछले साल ही शुरू हुआ है. वहीं, कोशुर कलाकार के 1.68 लाख सब्सक्राइबर्स हैं.

‘…ताकि उन्हें कुछ सुकून मिल सके’
परवेज अहमद भट्ट ‘कश्मीरी कॉमेडी किंग्स’ शूरू करने वालों में से एक हैं. भट्ट कहते हैं कि, “हम अपने वीडियोज के जरिए लोगों को हंसाना चाहते हैं. उन्हें संदेश देना चाहते हैं. हम अपने वीडियोज को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं ताकि उन्हें कुछ सुकून मिल सके.”

‘नहीं पता अगले महीने क्या होगा’
कश्मीरी यूट्यूबर फारुख का कहना है कि ‘कश्मीर में यूट्यूब चैनल चलाना कोई रीयल जॉब नहीं है. ये पार्ट-टाइम जॉब है. हमें यह नहीं पता होता कि कश्मीर में अगले महीने क्या होने वाला है. क्या होगा अगर अगले चार महीने के लिए इंटरनेट सेवा बंद की दी जाए. इसलिए हम रिस्क नहीं ले सकते हैं.’

ठीक-ठाक हो जाती है कमाई
कश्मीरी यूट्यूब चैनल्स की लोकप्रियता दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. ये यूट्यूबर्स ठीक-ठाक कमाई भी कर पा रहे हैं. कश्मीरी रॉउंडर्स को हर महीने 30,000 रुपए तक की कमाई हो जाती है. कोशुर कलाकार हर महीने करीब चार वीडियोज बनाकर अच्छी कमाई कर लेता है. हालांकि वीडियोज बनाने के लिए कई बार अपने पॉकेट से भी पैसे लगाने पड़ते हैं.

ये भी पढ़ें-

कन्नौज: नशे में धुत बोलेरो चालक ने चार लोगों को रौंदा, मौके पर हुई मौत

भयंकर गर्मी से दो दिन बाद मिल सकती है राहत, पुरवाई चलेगी तो कम होगा लू का कहर

2019 World Cup: दक्षिण अफ्रीका के पास ही रहेगा ‘चोकर्स’ का टैग? दूसरे मैच में बांग्‍लादेश ने पीटा

Related Posts