बंगाल के 70 लाख किसान पीएम सम्मान के इंतजार में, आखिर क्यों नहीं मिल रहा किसानों को पैसा?

कृषि मंत्री ने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री किसान योजना के नाम पर पश्चिम बंगाल में वहां की राज्य सरकार राजनीति कर रही है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की नीतियों की वजह से किसानों को मिलने वाली सहायता राशि अब तक जरूरतमंद किसानों तक नहीं पहुंच पा रही है.
Pradhan Mantri Kisan Samman, बंगाल के 70 लाख किसान पीएम सम्मान के इंतजार में, आखिर क्यों नहीं मिल रहा किसानों को पैसा?

किसानों की बेहतरी को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना की शुरुआत की थी. सोमवार को इस योजना को लागू हुए एक साल पूरा हो गया. बावजूद इसके बंगाल के लगभग 70 लाख किसानों को अभी तक इस सुविधा का लाभ नहीं मिल पाया है.

लाभार्थियों से मिलेंगे पीएम मोदी

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि हम बंगाल सरकार से इस बात की गुजारिश करते हैं कि जल्द से जल्द इस योजना को बंगाल में लागू किया जाए, जिससे कि वहां के किसानों को इस योजना का फायदा मिल सके. मालूम हो कि प्रधानमंत्री आगामी 29 फरवरी को चित्रकूट में प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के लाभार्थियों से मिलेंगे.

राज्य सरकार के इंतजार में

पश्चिम बंगाल में लगभग 10 लाख किसानों ने प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराया है. नियम के तहत जिन किसानों ने रजिस्ट्रेशन कराया है, उनका सत्यापन राज्य सरकार की ओर से होना जरुरी है. पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार ने अभी तक इन दस लाख किसानों के कागज का सत्यापन नहीं किया है. जिसकी वजह से केंद्र सरकार की ओर से इन्हें पैसा नहीं मिल रहा है.

राजनीति से उपर उठकर फैसला करें 

केंद्रीय कृषि मंत्री ने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री किसान योजना के नाम पर पश्चिम बंगाल में वहां की राज्य सरकार राजनीति कर रही है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की नीतियों की वजह से किसानों को मिलने वाली सहायता राशि अब तक जरूरतमंद किसानों तक नहीं पहुंच पा रही है.

पत्र का कोई जबाब नहीं

प्रधानमंत्री किसान योजना को लागू करने के लिए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने दो बार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री को पत्र लिखा. उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी की ओर से एक बार भी किसी भी पत्र का जबाब नहीं आया है.

लक्ष्य से दूर योजना

फरवरी 2019 में किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना की शुरुआत की थी. इस योजना का लक्ष्य था कि देश भर के लगभग 14 करोड़ किसानों को योजना का लाभ पहुंचाया जाए. इस योजना को लागू हुए एक साल हो चुके हैं बावजूद इसके लगभग 8 करोड़ किसान ही इस योजना के तहत लाभ प्राप्त कर पाए हैं.

ये भी पढ़ें : टेस्ट क्रिकेट का वो दीवाना, जो 70 सालों से बिना आंखों के देख रहा है मैच

Related Posts