एग्जिट पोल से नहीं पड़ता फर्क, 11 फरवरी को होगा दूध का दूध पानी का पानी: आतिशी मार्लेना

आतिशी ने कहा कि 'आम आदमी पार्टी भारी बहुमत से ये चुनाव जीतने वाली है. 14 फरवरी को केजरीवाल फिर से दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले रहे हैं.'
Delhi Assembly election 2020, एग्जिट पोल से नहीं पड़ता फर्क, 11 फरवरी को होगा दूध का दूध पानी का पानी: आतिशी मार्लेना

दिल्ली विधानसभा चुनाव में कालकाजी सीट से आम आदमी पार्टी ने आतिशी मार्लेना को उम्मीदवार बनाया है. आतिशी ने आज यानी मतदान के दिन टीवी9 भारतवर्ष से खास बातचीत की है. आप उम्मीदवार ने चुनाव से जुड़े कई सवालों के जवाब दिए.

सवाल: आम आदमी पार्टी ने यहां से उम्मीदवार क्यों बदला? अवतार सिंह पर भरोसा कम था? आप पर ज्यादा है या फिर आपको सेफ सीट देनी थी?

जवाब: हमने सर्वे के आधार पर क‌ई जगह उम्मीदवार बदले. जहां लगा कि पब्लिक के लिए काम नहीं हुआ, यहां भी बदला.

सवाल: जो एग्जिट पोल पार्टी के पक्ष में नहीं होते उन्हें पार्टी नहीं मानती तो आप ही बताइए कि आपका और आम आदमी पार्टी का एग्जिट पोल क्या है? आपकी कितनी सीटें आ रही हैं और दूसरी पार्टियों की कितनी?

जवाब: आम आदमी पार्टी भारी बहुमत से ये चुनाव जीतने वाली है. 14 फरवरी को केजरीवाल फिर से दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले रहे हैं.

एग्जिट पोल से कोई फर्क नहीं पड़ता. 11 फरवरी को तो रिजल्ट आ ही रहा है. दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा और पता चल जाएगा कि दिल्ली वाले काम चाहते हैं. भड़काने की राजनीति नहीं चाहते.

सवाल: पिछली बार 67 सीटें आईं. इस बार सीटें बढ़ेंगी या घटेंगी?

जवाब: सारे ऑपिनियन पोल तो कोई 55/60/65 बोल रहे हैं. सीटों का कहना तो मुश्किल है. 70 भी आ सकती हैं

सवाल: बीजेपी ने आम आदमी पार्टी का कैंपेन बदल दिया. पहले आप काम पर वोट मांग रहे थे फिर धर्म, देशभक्ति और शाहीन बाग पर स्टेंड बदला.

जवाब: बीजेपी के पास ना कोई चेहरा है ना एजेंडा, चुनाव से भटकाने की कोशिश की गई. जहां तक मंदिर जाने का सवाल है ,अरविंद केजरीवाल शुरुआत से ही धार्मिक व्यक्ति रहे हैं.

केजरीवाल हर दीपावली पर पर परिवार के साथ पूजा करते हैं. चुनाव से पहले मंदिर, मस्जिद गुरुद्वारे जाते हैं. किसी एंकर ने सवाल पूछा तो उन्होने हनुमान चालीसा सुना दी.

हमने शुरू से कहा है कि हमने CAA और NRC का विरोध किया. शाहीन बाग से प्रोटेस्ट हटाना हमारे हाथ में नहीं है. पुलिस के हाथ में है. प्रोटेस्ट से ट्रैफिक की समस्या होती है.

मेरा मानना है कि संविधान शांतिपूर्ण तरीके से प्रोटेस्ट करने अधिकार देता है. लेकिन किसी को परेशानी ना हो इसे सुनिश्चित करना चाहिए.

ये भी पढ़ें-

TV9 Cicero Delhi EXIT Poll 2020: अबकी बार दिल्ली में फिर केजरीवाल सरकार, BJP को इतनी सीटें

Delhi Election 2020: मतदान खत्म, शाम 6 बजे तक 54.78 फीसदी हुई वोटिंग

Related Posts