बीजेपी को एमसीडी की सत्‍ता में रहने का अधिकार नहीं: दुर्गेश पाठक

AAP के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक (Durgesh Pathak) ने कहा कि कस्तूरबा गांधी अस्पताल (Kasturba Gandhi Hospital) के डॉक्टरों ने पत्र लिखकर BJP शासित नगर निगम (Municipal Corporation) को बड़े स्तर पर त्यागपत्र देने की चेतावनी दी है.

आम आदमी पार्टी (AAP) ने MCD के तहत आने वाले डॉक्टर्स, टीचर्स और अन्य कर्मचारियों की परेशानियों को लेकर फिर से BJP पर निशाना साधा है. AAP के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक (Durgesh Pathak) ने कहा कि “भारतीय जनता पार्टी शासित MCD एक हफ्ते के अंदर अपने सभी कर्मचारियों की सैलरी जारी करे, नहीं तो BJP MCD से इस्तीफा दे, उसे MCD की सत्ता में बने रहने का नैतिक अधिकार नहीं है.”

दुर्गेश पाठक ने BJP को चुनौती देते हुए कहा कि “मात्र 1 साल के लिए नगर निगम (Municipal Corporation) का कार्यभार आम आदमी पार्टी को सौंप दें, हम इतने ही बजट में इसी व्यवस्था के साथ 1 साल के भीतर दिल्ली को देश का सबसे स्वच्छ शहर भी बना कर दिखाएंगे और निगम के अधीन आने वाले हर एक कर्मचारी का वेतन भी देंगे.”

MCD के सालाना बजट को लेकर लगाए ये आरोप

उन्होंने आगे कहा, “MCD का 18 हजार करोड़ रुपये का सालाना बजट होता है, इसका 20 प्रतिशत बजट भी ईमानदारी से खर्च किया होता, तो आज किसी भी कर्मचारी की सैलरी नहीं रुकी होती. यह सारा बजट BJP के पार्षद और उसके नेता खा जाते हैं. हर दिन BJP शासित नगर निगम के किसी न किसी विभाग का कोई न कोई ऐसा कर्मचारी मिल जाएगा, जो अपने वेतन को लेकर या तो धरना दे रहा होता है या धरने पर बैठने की या फिर आमरण अनशन की चेतावनी दे रहा होता है.”

“नर्स और डॉक्टरों ने त्यागपत्र देने की चेतावनी दी है”

दुर्गेश ने कहा, “आज ही हिंदूराव अस्पताल (Hindu Rao Hospital) की एक नर्स ने BJP शासित नगर निगम के मेयर साहब को अपने वेतन को लेकर एक बेहद ही मार्मिक और दर्द भरा पत्र लिखा है. इसी तरह कस्तूरबा गांधी अस्पताल (Kasturba Gandhi Hospital) के डॉक्टरों ने पत्र लिखकर BJP शासित नगर निगम को बड़े स्तर पर त्यागपत्र देने की चेतावनी दी है. पत्र में डॉक्टर ने लिखा है कि अगर जल्द ही उनका वेतन नहीं दिया गया, तो पूरा का पूरा विभाग एक साथ त्यागपत्र दे देगा.”

“इंजीनियरों ने हड़ताल करने की चेतावनी दी है”

उन्होंने कहा, “यूनिवर्सिटी के लगभग 1,500 शिक्षकों और कर्मचारियों को कई महीनों से वेतन नहीं मिला है. BJP शासित नगर निगम के अधीन काम करने वाले इंजीनियरों ने कहा कि अगर जल्द से जल्द उनका वेतन नहीं दिया गया, तो वे सभी हड़ताल करेंगे. निगम के अधीन आने वाले स्कूलों के लगभग 8,000 अध्यापक 16 अगस्त से BJP शासित नगर निगम को हड़ताल पर जाने की चेतावनी दे रहे हैं.” (IANS)

Related Posts