मनोज तिवारी और हरीश खुराना के खिलाफ मान‍हानि केस में AAP कार्यकर्ता ने पेश किए सबूत

शिकायतकर्ता के वकील ने बयान में कहा कि मनोज तिवारी और हरिश खुराना ने मीडिया के सामने कहा था कि आप के कार्यकर्ता ने ही केजरीवाल को थप्पड़ मारा है और आम आदमी पार्टी राजनीतिक फायदे के लिए दुष्प्रचार कर रही है.

नई दिल्ली. दिल्ली की रॉउज एवेन्यू कोर्ट में दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और प्रवक्ता हरीश खुराना के खिलाफ मानहानि मामले में शनिवार को शिकायतकर्ता व आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता सुशील चौहान के वकील ने कोर्ट के सामने वीडियो क्लीप पेश की, जिसमें शिकायतकर्ता की फोटो को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मनोज तिवारी ने आरोपी के रूप में दिखाया था, जबकि शिकायतकर्ता का दावा है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हमला करने वाला शख्स वो नहीं बल्कि कोई और था.

इस मामले में शिकायतकर्ता ने अपना बयान दर्ज करवाया, शिकायतकर्ता के वकील ने बयान में कहा कि मनोज तिवारी और हरिश खुराना ने मीडिया के सामने कहा था कि आप के कार्यकर्ता ने ही केजरीवाल को थप्पड़ मारा है और आम आदमी पार्टी राजनीतिक फायदे के लिए दुष्प्रचार कर रही है. इस तरह से दोनों ने समाज में शिकायतकर्ता की छवि खराब की है.

क्या है पूरा मामला?

दरअसल 4 मई को चुनाव प्रचार के दौरान दिल्ली में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को एक युवक ने थप्पड़ मारा था, जिसके बाद मनोज तिवारी और हरीश खुराना ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एक तस्वीर दिखाते हुए उस युवक को आम आदमी पार्टी का कार्यकर्ता बताया था. लेकिन वो तस्वीर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता सुशील चौहान की थी, जिसके बाद सुशील ने मनोज तिवारी और हरीश खुराना के खिलाफ 13 मई को कोर्ट में मानहनि का मुकदमा दायर किया था.

मामले की सुनवाई करते हुए MP/MLA की विशेष अदालत के जज समर विशाल ने याचिकाकर्ता को आदेश दिया है कि वह अपने दावे के अनुसार सीडी, पेन ड्राइव या दस्तावेज सबूत को अगली सुनवाई में पेश करे.

अब आगे क्या ?

अब 1 जुलाई को इस मामले में शिकायतकर्ता के पक्ष में 2 गवाहों के बयान दर्ज होंगे. गवाहों के बयान के बाद कोर्ट बीजेपी दिल्ली के अध्यक्ष मनोज तिवारी और प्रवक्ता हरीश खुराना के खिलाफ आपराधिक मानहानि के मामले में समन जारी करने पर फैसला लेगा.

ये भी पढ़ें: स्‍वरा भास्‍कर को ट्रोल करने की कोशिश में खुद घिर गए ये IPS, लोगों ने खूब सुनाया

ये भी पढ़ें: ‘मुद्दों पर बैटिंग करने के बजाय स्टूडियो में कमेंट्री के छक्के ना मारें…’ कांग्रेस की राधिका खेड़ा का गंभीर को जवाब