आचार्य बालकृष्ण को दिया गया था प्रसाद, जिसके बाद वो बेहोश हो गए थे: रामदेव

आचार्य बालकृष्ण को ऋषिकेश स्थित एम्स के लिए रेफर किया गया था लेकिन बाबा रामदेव इसका खंडन किया है. रामदेव के मुताबिक उनको फूड पॉइजनिंग की शिकायत हुई है.

देहरादून:  योग गुरु बाबा रामदेव के सहयोगी और आयुर्वेदाचार्य बालकृष्ण की तबियत में सुधार है और जल्द ही उनको अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी. योग गुरू बाबा रामदेव ने इस मामले में बयान दिया है.

AIIMS ऋषिकेश ने मेडिकल बुलेटिन में कहा कि मेडिकल जांच में बालकृष्‍ण का बीपी, पल्‍स रेट वगैरह सामान्‍य पाए गए. ECG, स्‍क्रीनिंग ईको टेस्‍ट में भी कोई दिक्‍कत नहीं मिली. MRI स्‍कैन से भी कुछ पता नहीं लगा. इसके बाद उन्‍हें क्रिटिकल केयर मेडिसिन डिपार्टमेंट में शिफ्ट कर दिया गया है.

बाबा रामदेव ने कहा कि उनको दिल का दौरा नहीं पड़ा बल्कि फूड प्वाइजनिंग हुई थी. दरअसल, मीडिया में पहले खबरें आई थी बालकृष्ण को दिल का दौरा पड़ा था लेकिन बाबा रामदेव इसे खारिज कर दिया है. बाबा रामदेव में सोशल मीडिया में एक वीडियो भी डाला.

बाबा रामदेव ने ट्वीटर पर लिखा, जिन लोगोंने पूज्य @Ach_Balkrishna जी के स्वास्थ्य केलिए चिंता जताई,उसके लिए आभार, जन्माष्टमी पर एक व्यक्ति पेड़ा लेकर आ गया था उसको खाकर कुछ घंटे बेहोशी आ गई थी, अब स्थिति धीरे-धीरे सामान्य होरही है, आप सबकी प्रार्थनाओं व भगवान की कृपासे आचार्य जी शीघ्र स्वस्थ होंगे.

योग गुरु स्वामी रामदेव के सहयोगी और पतंजलि आयुर्वेद के एमडी आचार्य बालकृष्ण (47) की दोपहर में तबियत बिगड़ गई थी. जिसके बाद उनको ऋषिकेश स्थित एम्स के लिए रिफर किया गया था. इससे पहले कहा जा रहा था कि उन्हें हरिद्वार स्थित हिमालयन हॉस्पिटल से जौलीग्रांट लाया जा रहा है. एम्स ऋषिकेश ने भी आचार्य बालकृष्ण को इमर्जेंसी में भर्ती कराने की बात कन्फर्म की थी.