राहुल गांधी नहीं माने तो कांग्रेस ने अधीर रंजन चौधरी को बनाया लोकसभा में पार्टी का नेता, VIDEO

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता इस पद के लिए राहुल गांधी को चुनना चाहते थे. लेकिन राहुला गांधी ने लोकसभा चुनावों में पार्टी के खराब प्रदर्शन के बाद कांग्रेस अध्यक्ष के पद को स्वीकार करने से इनकार कर दिया था.

नई दिल्ली: राहुल गांधी को न मना पाने के बाद कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता और पश्चिम बंगाल से सांसद अधीर रंजन चौधरी को लोकसभा में पार्टी का नेता बनाया है. मंगलवार सुबह लंबी बैठक में पार्टी ने इस विषय पर चर्चा की. इस बैठक में राहुल गांधी और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी भी मौजूद थीं.

लोकसभा को पार्टी की तरफ से एक पत्र लिखा गया, जिसमें कहा गया है कि अधीर रंजन चौधरी विपक्ष के सबसे बड़े दल के नेता होंगे और वह सभी महत्वपूर्ण चयन समितियों में इसका प्रतिनिधित्व करेंगे.

पार्टी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अपने “एक राष्ट्र एक चुनाव” विचार पर चर्चा के लिए बुलाई गई बैठक पर भी ध्यान केंद्रित किया. कांग्रेस ने अब तक इसका विरोध किया है. कांग्रेस के मुताबिक यह व्यावहारिक, तार्किक और कानूनी तरीके से वाजिब नहीं है.

खड़गे नहीं जीत सके चुनाव तो उठा पार्टी नेता का मुद्दा

पार्टी के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के चुनाव हारने के बाद कांग्रेस पार्टी में लोक सभा के नेता के तौर पर चर्चा हो रही थी. हालांकि पार्टी इस मुद्दे पर कोई भी फैसला लेने में जल्दबाजी नहीं दिखा रही थी.

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता इस पद के लिए राहुल गांधी को चुनना चाहते थे. लेकिन राहुला गांधी ने लोकसभा चुनावों में पार्टी के खराब प्रदर्शन के बाद कांग्रेस अध्यक्ष के पद को स्वीकार करने से इनकार कर दिया था. साथ ही वह लोकसभा में भी पार्टी के नेता बनने के इच्छुक नहीं थे.

अधीर रंजन चौधरी के साथ, केरल के नेता के सुरेश, पार्टी के प्रवक्ता मनीष तिवारी और तिरुवनंतपुरम के सांसद शशि थरूर भी कथित तौर पर इस पद की रेस में शामिल थे. लेकिन लोकसभा के पांच बार सदस्य रहे चौधरी जो को संसद और पार्टी में उनके लंबे अनुभव को देखते हुए चुना गया.

ये भी पढ़ें: अयोध्या आतंकी हमले के चार दोषियों को आजीवन कारावास, पांचवां आरोपी बरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *