Article 370 हटने के 70 दिन बाद जम्‍मू कश्‍मीर में शुरू हुई पोस्‍टपेड मोबाइल सर्विस

जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने और राज्य को केंद्रशासित प्रदेश बनाने के 70 दिन बाद पोस्टपेड मोबाइल सेवा शुरू किए जाने का यह फैसला लिया गया है.

नई दिल्‍ली: कश्मीर घाटी में पोस्टपेड मोबाइल सेवा सोमवार से बहाल कर दी गई. अभी सिर्फ पोस्टपेड मोबाइल सेवाएं शुरू गई है. जम्‍मू-कश्‍मीर में 70 दिन बाद पोस्टपेड मोबाइल सेवा बहाल की गई है.

इस फैसले से 40 लाख पोस्‍टपेड मोबाइल यूजर्स को फायदा मिलेगा. हालांकि, अब भी 20 लाख प्रीपेड मोबाइल सेवा बहाल नहीं की गई हैं. पूरे जम्मू-कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवा पर अब भी रोक लगी हुई है.

पोस्टपेड मोबाइल सेवा बहाल होते ही जम्‍मू-कश्‍मीर के तमाम रिचार्ज स्टोर के बाहर कतारें लग गईं. जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने और राज्य को केंद्रशासित प्रदेश बनाने के 70 दिन बाद पोस्टपेड मोबाइल सेवा शुरू किए जाने का यह फैसला लिया गया है. अधिकारियों का कहना है कि हम राज्य की सुरक्षा व्यवस्था पर नजर रख रहे हैं और बहुत जल्द इंटरनेट सेवा को भी शुरू किया जा सकता है.

जम्‍मू कश्‍मीर में मोबाइल सर्विस शुरू, Article 370  हटने के 70 दिन बाद जम्‍मू कश्‍मीर में शुरू हुई पोस्‍टपेड मोबाइल सर्विस

जम्मू कश्मीर में स्कूल और कॉलेज पहले ही खोल दिए गए हैं और अब पोस्टपेड मोबाइल सेवा भी बहाल कर दी गई है. इसके बाद प्रीपेड सेवा को भी पूरे राज्य में बहाल किया जाएगा.

जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के साथ ही 5 अगस्त को घाटी में मोबाइल सेवा बंद कर दी गईं थी. घाटी में 17 अगस्त को आंशिक फिक्स्ड लाइन टेलीफोन को फिर से शुरू किया गया था और 4 सितंबर तक लगभग 50,000 की संख्या वाली सभी लैंडलाइनों को शुरू कर दिया गया था.

सत्‍यपाल मलिक बोले आतंकी कर रहे टेलिफोन का इस्‍तेमाल: जम्‍मू-कश्‍मीर के राज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक ने पोस्‍टपेड मोबाइल सेवा बहाल किए जाने को लेकर बड़ा बयान दिया है. मलिक ने कहा कि अगले कुछ दिनों में इंटरनेट सेवा को शुरू कर दिया जाएगा. सत्यपाल मलिक ने कहा कि कश्मीरियों के लिए टेलीफोन नहीं, उनकी जिंदगी महत्वपूर्ण है. पहले भी कश्मीरी टेलीफोन के बिना रह रहे थे. आपको समझना चाहिए कि टेलीफोन का इस्तेमाल आतंकी कर रहे हैं.