अशोक तंवर का सनसनीखेज खुलासा- BJP को जिताने के लिए रचा गया ये गेम प्लान

टीवी9 भारतवर्ष से बातचीत करते हुए अशोक तंवर से कहा कि पार्टी में कार्यकर्ताओं की कोई इज्जत नहीं है. पार्टी के अंदर दादागीरी चल रही है. उन्होंने कहा कि जो टीम राहुल गांधी ने तैयार की थी धीमे-धीमे उसको नष्ट किया जा रहा है.
, अशोक तंवर का सनसनीखेज खुलासा- BJP को जिताने के लिए रचा गया ये गेम प्लान

नई दिल्ली: देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं. पहले संजय निरूपम के बगावती सुर सामने आए उसके बाद हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया. अशोक तंवर ने टीवी9 भारतवर्ष ने एक्सक्लूसिव बातचीत की. इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पर संगीन आरोप लगाए हैं.

पार्टी में कार्यकर्ताओं की कोई इज्जत नहीं है- तंवर
टीवी9 भारतवर्ष से बातचीत करते हुए अशोक तंवर से कहा कि पार्टी में कार्यकर्ताओं की कोई इज्जत नहीं है. पार्टी के अंदर दादागिरी चल रही है. उन्होंने कहा कि जो टीम राहुल गांधी ने तैयार की थी धीमे-धीमे उसको नष्ट किया जा रहा है. पार्टी के अंदर कुछ ताकतें हैं जोकि पार्टी को खत्म करने में तुली हुई हैं. बाहर वाली ताकतों से कांग्रेस खत्म नहीं हो सकती. पहले हम संगठन में थे तो कुछ और समझते थे लेकिन यहां पर कुछ और ही चल रहा है. उन्होंने कहा कि जो भी राजनीतिक हत्याएँ हो रही हैं या फिर हो चुकी हैं या होने वाली है उससे सबको बचना चाहिए.

हजारों करोड़ कमा चुके हैं बड़ी गाड़ियों वाले- तंवर
डॉ अशोक तंवर ने बताया कि पार्टी के दो महासचिव हैं जोकि पांच साल में केवल दो बार क्षेत्र का दौरा किया और वो लोग तय करते हैं कि क्या होना है. ग्रास रूट से कोई मतलब ही नहीं है. बड़ी-बड़ी गाड़ियों में आते हैं. कई हजार करोड़ रूपये कमा चुके हैं. जब उन्हीं को सब कुछ करना है तो फिर हमारी जरूरत ही क्या है.

बीजेपी ज्वाइन करने वाले सवाल पर क्या बोले तंवर
टीवी9 भारतवर्ष की संवाददाता ने जब उनसे सवाल किया कि क्या आप बीजेपी ज्वाइन करना चाहते हैं तो इसके जवाब में उन्होंने कहा कि इल्जाम को कोई भी लगा देता है कि लेकिन मैं पहले भी कह चुका हूं कि पिछले पांच साल बीजेपी की मदद किसने की. हरियाणा में बीजेपी को लेकर कौन आया. आज भी जो टिकट वितरण हुआ है वो बीजेपी को फायदा पहुंचाने वाला हुआ है और 24 दिन बाद ये साबित हो जाएगा. अशोक तंवर का बीजेपी से कोई मतलब नहीं है. बीजेपी से बहुत बार ऑफर आया है मेरे पास. कांग्रेस में थे और अब नहीं हैं ये सच्चाई है. अपने साथियों से चर्चा करेंगे क्या करना है. साथ ही उन्होंने कहा कि हरियाणा में ही पानीपत है और कुरूक्षेत्र भी. ये रण की भूमि है और हम रण करेंगे.

कांग्रेस के लिए बड़ा झटका
हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर ने आख़िरकार पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. हरियाणा चुनाव से पहले तंवर का इस्तीफ़ा कांग्रेस के लिए झटका माना जा रहा है. तंवर ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजे त्यागपत्र में आरोप लगाया कि पार्टी को खत्म करने की साजिश रची जा रही है. कुछ दिनों पहले ही उन्होंने राज्य विधानसभा चुनाव के लिए बनी विभिन्न समितियों से इस्तीफा दे दिया था.

मेरे लिए कोई रास्ता नहीं बचा
तंवर ने कहा कि उनके सामने पार्टी छोड़ने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा था और वह फिलहाल बीजेपी या किसी अन्य पार्टी में शामिल होने नहीं जा रहे हैं. उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि राहुल गांधी के करीबियों की ‘राजनीतिक हत्या’ की जा रही है. ज़ाहिर है हाल ही में उनसे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद छीन लिया गया था. सोनिया गांधी की बेहद क़रीबी कुमारी शैलजा को उनकी जगह अध्यक्ष बनाया गया.

अशोक तंवर कांग्रेस के लिए दलित चेहरा थे इसलिए उनको हटाकर कुमारी शैलजा को अध्यक्ष बनाया गया. जिससे पार्टी को दलित विरोधी नहीं कहा जाए. कुमारी शैलजा भी कांग्रेस में दलित समुदाय का बड़ा चेहरा मानी जाती हैं. तंवर हरियाणा चुनाव के लिए कांग्रेस उम्मीदवारों को टिकट देने से नाराज़ थे. तंवर ने आरोप लगाया कि सोहना विधानसभा सीट पांच करोड़ में बेची गई है.

Related Posts