‘कश्मीर में क्या हो रहा है किसी को कुछ नहीं पता,’ गवर्नर से मिलने के बाद बोले उमर अब्दुल्ला

उमर अब्दुल्ला ने कहा कि राज्यपाल ने उन्हें आश्वासन दिया है कि आर्टिकल 370 और 35 ए और राज्य को तीन हिस्सों में बांटने जैसी कोई भी कार्रवाई नहीं की जाएगी.

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर में आतंकवादी हमले की सूचना मिलने के बाद केंद्र सरकार ने सुरक्षा बलों की तैनाती बढ़ाते हुए अमरनाथ यात्रा पर गए यात्रियों को जल्द लौटने के लिए एडवाइजरी जारी की है. इससे राज्य के नेताओं में हड़कंप मच गया है. साथ राज्यभर में इसके बाद तरह-तरह की अफवाहें भी फैल गईं.

इसी बीच सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने गवर्नर सत्यपाल मलिक से मुलाकात की. मुलाकात के बाद उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा, “हम जम्मू कश्मीर की मौजूदा स्थिति के बारे में जानना चाहते हैं. जब हमने कुछ अधिकारियों से पूछा तो उन्होंने कहा कि कुछ नहीं होने वाला है, लेकिन वास्तव में यह कोई नहीं जानता है.”

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता ने कहा कि जब सोमवार को संसद का सत्र चलेगा तब केंद्र सरकार को इस स्थिति पर बयान देना चाहिए कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि पर्यटकों को घाटी छोड़ने और अमरनाथ यात्रा रोकने का आदेश देना पड़ा. उन्होंने कहा, “हम संसद में ये सुनना चाहते हैं कि लोगों को डरने की कोई जरूरत नहीं है.”

राज्यपाल सत्यपाल मलिक से मुलाकात के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने उन्हें आश्वासन दिया है कि आर्टिकल 370 और 35 ए और राज्य को तीन हिस्सों में बांटने जैसी कोई भी कार्रवाई नहीं की जाएगी. मालूम हो कि इस तरह की अफवाहें भी घाटी में फैलाई जा रही हैं.

ये भी पढे़ं: केरन सेक्टर पर भारतीय सेना की बड़ी कार्रवाई, पाकिस्तान के 5 से 7 BAT कमांडो ढेर, VIDEO