नीरव मोदी की तरह एक और कंपनी ने बैंकों को लगाया 3,592 करोड़ रुपए से ज्यादा का चूना

कंपनी का रजिस्टर्ड ऑफिस मुंबई में है. साथ ही बांग्लादेश, चीन, सऊदी अरब, अमेरिका, कंबोडिया, स्विट्जरलैंड समेत कई देशों में यह कंपनी आयात और निर्यात करती है.

भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के बाद अब वैसा ही एक और मामला सामने आया है, जिसमें एक कंपनी पर सरकारी बैंकों को भारी रकम का चूना लगाने का आरोप लगा है. सीबीआई ने मुंबई की एक कंपनी फ्रॉस्ट इंटरनेशनल और उसके डायरेक्टर्स उदय देसाई और सुजय देसाई समेत 13 लोगों के खिलाफ 14 सरकारी बैंकों से 3,592 करोड़ रुपए से ज्यादा की धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है.

बैंक ऑफ इंडिया के कानपुर जोन ऑफिस की शिकायत पर सीबीआई ने यह कार्रवाई की और कानपुर, दिल्ली, मुंबई समेत देश के कई शहरों में इस कंपनी से जुड़े अलग-अलग ठिकानों पर छापा मारा गया. साथ ही आरोपियों के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर भी जारी कर दिया गया. शिकायत में बैंक ऑफ इंडिया ने बताया कि ये कंपनी आयात-निर्यात से जुड़ी हुई है.

जानकारी में बताया गया कि इस कंपनी का रजिस्टर्ड ऑफिस मुंबई में है. साथ ही बांग्लादेश, चीन, सऊदी अरब, अमेरिका, कंबोडिया, स्विट्जरलैंड समेत कई देशों में यह कंपनी आयात और निर्यात करती है.

अधिकारियों का कहना है कि कंपनी के सामान के खरीदारी और लेनदेन के साथ माल की आवाजाही के ब्योरों में गड़बड़ी मिली है. उनका कहना है कि कंपनी और उसके डायरेक्टर्स ने बैंकों के साथ 3,592.48 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की है.

ये भी पढ़ें: राहुल गांधी को फिर से पार्टी अध्यक्ष बनाने मंच तैयार कर रही राजस्थान कांग्रेस

Related Posts