एम्स के चौकीदारों ने मरीजों के परिजनों को किया लहुलुहान

बाउंसरों की मारपीट में आधा दर्जन लोग चोटिल हुए हैं. जिनमें से दो से तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. वीडियो वायरल होने और गांव हंगामे के बाद एम्स ट्रामा में पुलिस भी पहुंच गई और मामले की जांच शुरू कर दी गई है.

नई दिल्ली: दिल्ली के एम्स ट्रामा सेंटर में गार्ड और बाउंसरों ने एक मरीज के परिजनों के साथ मारपीट की. मारपीट का खुलासा तब हुआ जब एक वीडियो वायरल हुआ. वायरल वीडियो में साफ दिखा कि हाथ में लाठी-डंडा लिए गार्ड और बाउंसर परिजनों को किस तरह खदेड़ रहे हैं और मारो-मारो की आवाज आ रही है.

बाउंसरों की मारपीट में आधा दर्जन लोग चोटिल हुए हैं. जिनमें से दो से तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. वीडियो वायरल होने और गांव हंगामे के बाद एम्स ट्रामा में पुलिस भी पहुंच गई और मामले की जांच शुरू कर दी गई है.

बच्ची को देखने आए थे जानकार
एक बच्ची एम्स ट्रामा में भर्ती है. उसी को देखने के लिए कुछ रिलेटिव आ गए थे. जिनको गार्ड ने अंदर जाने से रोक दिया. जिसको लेकर बात आगे बढ़ गई और फिर बहस से गर्मा-गर्मी हो गई और फिर हाथा पाई और मारपीट की नौबत आ गई. पीड़ित परिवार वालों का कहना है कि ऐसी बात नहीं है. लेडीस के साथ ड्यूटी पर तैनात गार्ड ने जब कमेंट पास किया तो जिसका विरोध किया गया और जब उसके बारे में पूछा गया तो यह मारपीट और झगड़ा हुआ है.

नहीं देखा अभी वीडियो
एम्स ट्रामा सेंटर के डायरेक्टर डॉ विप्लव मिश्रा का कहना है कि अभी तक उन्होंने वीडियो नहीं देखा है. लेकिन जो जानकारी उन्हें पता चली है उसके अनुसार 8 से 10 लोग एक साथ बच्ची से ट्रामा सेंटर के अंदर मिलना चाह रहे थे. लेकिन यहां के सिस्टम के अनुसार एक पास पर एक ही लोग एक बार में जा सकते हैं.

जब उन्हें मना किया गया तो वह गार्ड से बहस करने लगे. फिर बात आगे बढ़ गई पहले उन लोगों ने पर हमला किया, क्योंकि उनकी संख्या 30 से 40 थी. उस समय 10 से 15 ही थे. बाउंसरों ने अपना बचाव किया फिर उनके साथ मारपीट किया है, जिसका वीडियो लोग देख रहे हैं.

दिल्ली पुलिस कर सकती है कार्रवाई
बहरहाल, मामला दिल्ली पुलिस के पास पहुंच गया है. पीड़ित की तरफ से लगभग आधा दर्जन लोगों को चोट लगी है. जिसमें बच्ची के पिता भी हैं और लेडीज को भी चोट लगी है. बताया जा रहा है कि एक व्यक्ति के सिर पर गम्भीर चोट लगी है. जिसकी वजह से काफी ब्लीडिंग हो रही है. वहीं दूसरी तरफ एम्स ट्रामा सेंटर प्रशासन से पुलिस सीसीटीवी फुटेज चेक करेगी उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जा सकती है.