दिल्ली पहुंचा VVIP ‘एयर इंडिया वन’, जानें राष्ट्रपति-पीएम के इन विमानों की खास खूबियां

इस विमान के सभी सिक्योरिटी फीचर्स और सुविधाएं अमेरिकी राष्ट्रपति के एयरफोर्स वन विमान के जैसी ही हैं. ये विमान किसी अभेद्य किले से कम नहीं है. जानें क्या है बेहद ही खास ‘Air India One’ विमान की खूबियां.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 1:55 pm, Thu, 1 October 20
Air-India-One-Plane
वीवीआईपी एयर इंडिया वन विमान

देश के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के लिए खरीदे गए दो वीवीआईपी एयर इंडिया वन विमान (Air India One Plane) में से एक विमान भारत आ गया है. विमान गुरुवार शाम को दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर पहुंचा. जानकारी के मुताबिक, यह एयरक्राफ्ट एयर इंडिया रिसीव करेगी फिर एयर फोर्स को सौंपा जाएगा.

बोइंग 777 एयरक्राफ्ट पहले से मौजूद विमान से कहीं ज्यादा सुरक्षित और आधुनिक तकनीक वाले हैं. यह मान लीजिए कि ये विमान किसी अभेद्य किले से कम नहीं है. जानें क्या है इस आम से दिखने वाले लेकिन बेहद ही खास ‘Air India One’ विमान की खूबियां.

हवा में उड़ता अभेद्य किला है एयर इंडिया वन

  • भारत ने दो एयर इंडिया वन विमान को तैयार करने के लिए अमेरिका से करीब 1300 करोड़ रुपए की डील की थी.
  • विमान में ट्विन GE90-115 इंजन लगा है. जिसकी मदद से प्लेन 900 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ सकता है.
  • इस विमान की सबसे बड़ी खासियत है ‘सेल्‍फ प्रोटेक्‍शन सूट’ (SPS), जो इसे किसी भी मिसाइल हमले या हवा में होने वाली दुर्घटना से बचाएगा.
  • भारत के इस देसी एयरफोर्स वन में ऐसे खास सेंसर लगे हैं, जो मिसाइल हमले से पहले इसकी सूचना दे सकते हैं.
  • विमान के इन खास सेंसर से मिलने वाली सूचना के तुरंत बाद इसके अंदर लगा डिफेंसिंव इलेक्‍ट्रानिक वॉरफेयर सिस्‍टम ऐक्टिव हो जाएगा.
  • डिफेंसिंव इलेक्‍ट्रानिक वॉरफेयर सिस्‍टम में इंफ्रा रेड सिस्‍टम, डिजिटल रेडियो फ्र‍िक्‍वेंसी जैमर जैसी कई अधुनिक तकनीक शामिल हैं.
  • इन सब तकनीक के कारण ही एयर इंडिया वन दुश्मन के रडार को जाम करने और मिसाइल से हमला करने में सक्षम है.
  • इसके अलावा मेडिकल इमर्जेन्सी के लिए मेडिकल सुइट भी है. इन विमानों पर भारत और इंडिया लिखा होगा. साथ में अशोक स्तंभ भी होगा.
  • एयर इंडिया वन में क्वार्टर, बड़ा ऑफिस, लैब, डाइनिंग रूम और कॉन्फ्रेंस रूम है.
  • भारत से अमेरिका जाने के दौरान इस विशेष विमान में कहीं भी ईंधन भरने के लिए उतरने की जरूरत नहीं होगी.
  • इस विमान के सभी सिक्योरिटी फीचर्स और सुविधाएं अमेरिकी राष्ट्रपति के एयरफोर्स वन विमान के जैसी ही हैं.
  • विमानों में अमेरिका के डलास स्टेट स्थित फोर्ट वर्थ में अडवांस्ड सिक्यॉरिटी फीचर्स जोड़े गए हैं.
  • इन विमानों को उड़ाने के लिए एयर इंडिया ने भी अपने 40 वरिष्ठ पायलट को चुना है. ये 40 पायलट ही इन दो बोइंग 777 विमान को उड़ाएंगे.