अयोध्या फैसले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगा AIMPLB, पक्षकारों ने बैठक कर लिया फैसला

जानकारी के मुताबिक यह एक अनौपचारिक बैठक थी, जिसमें मुस्लिम पक्ष के कई बड़े चेहरे शामिल हुए और सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर रिव्यू पिटिशन दाखिल करने पर रजामंदी जताई.

ऑल इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड (All India Muslim personal law board) अयोध्या मामले (Ayodhya Case) में सुप्रीम कोर्ट(Supreme Court) में पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगा. यह फैसला लखनऊ स्थित इस्लामिक शिक्षण केंद्र दारुल उलूम नदवातुल उलेमा (नदवा कॉलेज) में हुई बैठक में लिया गया.

जानकारी के मुताबिक यह एक अनौपचारिक बैठक थी, जिसमें मुस्लिम पक्ष के कई बड़े चेहरे शामिल हुए और सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर रिव्यू पिटिशन दाखिल करने पर रजामंदी जताई. इस दौरान पक्षकारों से वकालतनामे पर हस्ताक्षर भी करवाया गया.

इस बैठक में जफरयाब जिलानी भी शरीक हुए. अयोध्या मामले पर ऑल इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) भी रविवार को बैठक करने जा रहा है. बोर्ड की बैठक से पहले ही कई मुस्लिम पक्षकार अयोध्या पर पुर्नविचार अर्जी के लिए तैयार हो गए हैं.

AIMPLB पुनर्विचार याचिका अदालत से कहेगा वह पूरे मुस्लिम समुदाय की ओर से यह याचिका दाखिल कर रहा है. सुन्नी वक्फ बोर्ड इस मामले में पूरी मुस्लिम आबादी का प्रतिनिधित्व नहीं कर सकता ऐसे में इस मामले में उसकी पुनर्विचार याचिका को स्वीकार किया जाए.

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और अन्य मुस्लिम प्रतिनिधि रविवार को पुनर्विचार याचिका दाखिल करने के मद्देनजर एक बैठक और करेंगे जिसके बाद अंतिम फैसला लिया जाएगा. हालांकि, इकबाल अंसारी और सुन्नी वक्फ बोर्ड ने बैठक से खुद को किनारा कर लिया है. बाबरी मस्जिद मामले में चार वादी मुलाकात में मौजूद रहेंगे.

हालांकि, फिरंगी महली,कल्वे जव्वाद और इकबाल अंसारी सरीखे नेता नहीं चाहते कि फैसले पर पुर्नविचार अर्जी दाखिल की जाए. आखिरी फैसला रविवार को होने वाली ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक में किया जाएगा.