एएन-32 विमान हादसा: अरुणाचल प्रदेश से 6 शव, 7 लोगों के अवशेष बरामद

एयरक्राफ्ट के गायब होने के बाद आईएएफ शिलांग के ईस्टर्न एयर कमांड मुख्यालय के मार्गदर्शन में व्यापक तलाशी अभियान चला रहा था.

नई दिल्ली: भारतीय वायु सेना (IAF) ने गुरुवार को कहा कि एएन-32 के दुर्घटना स्थल के पास छह शव और सात लोगों के अवशेष मिले हैं. अरुणाचल प्रदेश में 3 जून को यह विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था.

एक अधिकारी ने कहा, इससे पहले 11 जून को विमान का मलबा एक दूरदराज इलाके में दिखा था, तभी से घटनास्थल पर पहुंचने और शवों को बरामद करने की कोशिश की जा रही थी. विमान में वायुसेना के 13 कर्मी सवार थे और विमान असम से अरुणाचल प्रदेश जा रहा था.

क्षेत्र में खराब मौसम की वजह से 3 जून को विमान एएन-32 के दुर्घटनाग्रस्त होने में मारे गए 13 लोगों में से आखिरी छह के शव निकालने के अभियान में बाधा उत्पन्न हो रही थी.

इससे पहले शुक्रवार को खोजी दल ने अरुणाचल प्रदेश में क्षतिग्रस्त हुए एयरक्राफ्ट का कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर (सीवीआर) और फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर (एफडीआर) बरामद किया था.

वायुसेना और थलसेना के 16 पर्वतारोहियों का एक दल व पांच आम पर्वतारोही लगभग 12,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित पश्चिम सियांग जिले के तातो के उत्तर में लिपो से करीब 16 किलोमीटर दूर दुर्घटनास्थल की तलाशी ले रहे हैं.

3 जून को एएन-32 ने जोरहाट एयरबेस से चीन की सीमा से सटे अरुणाचल के शि-योमी जिले में मेचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड के लिए उड़ान भरी थी, लेकिन 35 मिनट के भीतर ही उनका ग्राउंड एजेंसियों से संपर्क टूट गया.

और पढ़ें- शादी के चलते शपथ नहीं ले पाईं तृणमूल सांसद नुसरत जहां, पढ़ें क्या हैं नियम

एयरक्राफ्ट के गायब होने के बाद आईएएफ शिलांग के ईस्टर्न एयर कमांड मुख्यालय के मार्गदर्शन में व्यापक तलाशी अभियान चला रहा है.