बहू की मदद से 65 साल का दादा पोती का करता रहा रेप, कोर्ट ने सुनाई सजा

सरकारी वकील सुरेश चंद्र प्रसाद ने बताया कि दोनों (आरोपी दादा और पीड़िता की मां) पर जुर्माना लगाया गया है. अगर जुर्माना राशि नहीं चुकाते हैं तो उन्हें तीन महीने अतिरिक्त जेल में गुजारना होगा.

राजधानी पटना से एक बेहद शर्मनाक करने वाली घटना सामने आई है. यहां एक रिटायर्ड सैन्यकर्मी सालों तक अपनी नाबालिग पोती का दुष्कर्म करता रहा. इससे भी ज्यादा शर्मनाक और निंदनीय बात ये है कि इस गुनाह में पीड़िता की मां भी अपने ससुर का साथ देती रही. ऐसी ही घटनाओं के कारण रिश्तों से विश्वास उठता जा रहा है.

सरकारी वकील सुरेश चंद्र प्रसाद ने बताया कि दोनों (आरोपी दादा और पीड़िता की मां) पर जुर्माना लगाया गया है. अगर जुर्माना राशि नहीं चुकाते हैं तो उन्हें तीन महीने अतिरिक्त जेल में गुजारना होगा.’ पीड़िता के बयान के मुताबिक वर्ष 2011 में उसके पिता कहीं गुम हो गए. इसके बाद उसकी दादी ने भी आत्महत्या कर ली.

प्रसाद ने बताया, ‘आरोपी दादा सेना से रिटायर है. अब वह एक बैंक में सुरक्षाकर्मी के रूप में कार्यरत है. इस समय वह पूरे परिवार में कमाने वाला इकलौता शख्स है. इसी कारण वह कई वर्षों से फायदा उठा रहा था. जब कभी भी नाबालिग अपनी मां से इसकी शिकायत करती तो वह अपने ससुर का साथ देती थी.’

प्रसाद के मुताबिक इस वर्ष फरवरी में यह मामला तब प्रकाश में आया जब पीड़िता ने अपने स्कूल प्रिंसिपल को पूरी जानकारी दी. इसके बाद स्कूल ही पुलिस ने पीड़िता का बयान दर्ज किया. इसके बाद आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई.

पीड़िता ने अपने बयान में कहा है कि उसके दादा कई बार उसका रेप कर चुके हैं. उसने बताया कि जब वह छोटी थी, तब उसे इस बारे में कुछ स्पष्ट जानकारी नहीं हुई. बड़े होने पर उसे पता चला कि उसके दादा उसके साथ गलत कर रहे थे. पीड़िता अब अपने नाना-नानी के साथ रहती है. उसने अपना स्कूल भी बदल दिया है.

इस मामले में स्पेशल पॉक्सो कोर्ट ने 65 वर्षीय दादा और 34 वर्षीय आरोपी बहू को 20 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई है. कोर्ट ने ससुर पर 20 हजार रुपये और बहू पर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है.