आंध्र प्रदेश: नंदी मूर्ति क्षतिग्रस्त करने के मामले में आठ लोग गिरफ्तार

चित्तूर एसपी सेंथिल कुमार ने बताया कि इस महीने की 27 तारीख को जिले के आगरा मंगलम गांव के अभय अंजनेया स्वामी मंदिर में नंदी प्रतिमा क्षतिग्रस्त की गई.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 10:42 pm, Wed, 30 September 20
प्रतीकात्मक फोटो

आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले के गंगाधारा नेल्लोर मंडल में नंदी प्रतिमा क्षतिग्रस्त करने वाले बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने इस मामले में 8 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. उनके पास से मूर्ति को तोड़ने में इस्तेमाल हुए हथियार भी बरामद किए गए हैं.

चित्तूर एसपी सेंथिल कुमार ने बताया कि इस महीने की 27 तारीख को जिले के आगरा मंगलम गांव के अभय अंजनेया स्वामी मंदिर में नंदी प्रतिमा क्षतिग्रस्त की गई. इससे पहले प्रतिमा मूल जगह से हटाई गई और मंदिर के पिछले हिस्से ले जा कर तोड़ी गई. उन्होंने कहा कि इस घटना की जांच तेज की गई. इसके लिए तीन विशेष दल बनाये गये. पुलिस टीम ने आरोपियों को हिरासत में ले लिया है.

यह भी पढ़ें- LAC पर चीन की किसी भी हरकत का जवाब देने को तैयार हैं ब्रह्मोस, निर्भय और आकाश मिसाइल

सेंथिल ने बताया कि गिरोह में कुल 8 सदस्य हैं. इनमें से 5 कर्नाटक, दो आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं. ये सभी कर्नूल जिला, आलुरु के सोमशेखर के कहने पर काम करते हैं. इस गिरोह ने चित्तूर, गुंटूर, अनंतपुर और कर्नूल जिलों में पुरातन मंदिरों में चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया है. गुप्त धन हासिल करने के लिए प्रतिमा क्षतिग्रस्त करना, इनका काम है.

हनुमान जी की भी तोड़ गई थी मूर्ति

नंदी मूर्ति तोड़े जाने की घटना के बारे में पुलिस को रविवार को पता चला. सेंथिल के मुताबिक पुलिस तुरंत घटनास्थल पर पहुंची और मामले की जांच शुरू की. नंदी की मूर्ति को टूटा हुआ पाया गया. पुलिस ने इस बारे में स्थानीय लोगों से पूछताछ की. जिसके बाद मामला दर्ज कर लिया गया.

यह भी पढ़ें- DRDO ने ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया, गृह मंत्री ने दी बधाई

आंध्र प्रदेश के कुरनूल जिले के पट्टिकोंडा शहर के पास पिछले हफ्ते बुधवार को हनुमान जी की एक मूर्ति क्षतिग्रस्त पाई गई. पुलिस के मुताबिक मंगलवार की रात कुछ उपद्रविय़ों ने मूर्ति तोड़कर उसे दूसरे स्थान पर रख दिया. पुलिस द्वारा उस इलाके में सीसीटीवी फुटेज की जांच की गई. लेकिन उसमे कुछ नहीं मिला.

सरकार ने पारित किए हैं तीन प्रस्ताव

टीकोंडा सर्कल इंस्पेक्टर आदिनारायण रेड्डी ने कहा था कि राष्ट्रीय राजमार्ग के पास के पेटिकोंडा शहर के बाहरी इलाके में एक साल पहले हनुमान मूर्ति स्थापित की गई थी. क्षेत्र में कोई सीसीटीव कैमरा नहीं है. कुछ दूर पर CCTV है, लेकिन उनकी जांच का कोई फायदा नहीं हुआ.

IPC की धारा 295, 295 (A) के तहत मामला दर्ज किया गया है. बता दें कि हाल ही में आंध्र प्रदेश BJP द्वारा तीन प्रस्ताव पारित किए गए हैं, जिसमें से एक प्रस्ताव हिंदू मंदिरों पर हमलों से जुड़ा है.