प्रसाद में सायनाइड मिलाकर खिलाता था, 2 साल में 10 लोगों को मारा, पकड़ा गया सीरियल किलर

यह सीरियल किलर 20 महीनों में 10 लोगों को सायनाइड मिला प्रसाद खिला कर उनकी हत्या कर चुका है.

आंध्र प्रदेश पुलिस ने एक सीरियल किलर को गिरफ्तार किया है जिसने 20 महीनों में 10 लोगों को सायनाइड मिला प्रसाद खिला कर उनकी हत्या कर दी. पुलिस अधीक्षक नवदीप सिंह ग्रेवाल ने मंगलवार को बताया कि 10 लोगों की हत्या के आरोपी येल्लांकी सिम्हाद्रि उर्फ शिवा को गिरफ्तार किया है.

कीमती सामान लूट लेता था

उन्होंने बताया कि शिवा रियल स्टेट का कारोबार करता था लेकिल उसे भारी नुकसान हुआ था. उसने जल्दी पैसा कमाने के लालच में लोगों को कीमती रत्न देकर और खजाने का पता बताने का लोभ देकर ठगना शुरू कर दिया. ग्रेवाल ने बताया कि वह विशेष पूजा के बहाने लोगों के घरों में घुसता था और उन्हें सायनाइड मिला प्रसाद खिला कर उनका कीमती सामान लूट लेता था.

रिश्तेदारों की भी हत्या की

पुलिस ने बताया कि ऐलुरु निवासी वेल्लंकी सिम्हाद्री ने प्रसाद में साइनाइड मिलाकर नागराजू की हत्या की थी. नागराजू की हत्या की जांच के दौरान सिंहाद्री के अनेक आपराधिक मामले भी सामने आए हैं. आरोपी ने पश्चिमी गौदावरी, पूर्वी गोदावरी और कृष्णा जिले में कुल 10 लोगों को प्रसाद में साइनाइड मिलाकर हत्या किये जाने का खुलासा हुआ है.

पश्चिमी गोदावरी जिला पुलिस अधीक्षक नवदीप सिंह ने मीडिया को बताया कि सिम्हाद्री के साथ साइनाड की आपूर्ति करने वाले विजयवाड़ा निवासी शेख अमीनुल्ला को भी गिरफ्तार किया है. सिम्हाद्री ने अपने रिश्तेदारों और परिवार के सदस्यों की भी हत्या की है.

तीन तोला सोना और रुपये बरामद

उन्होंने यह भी बताया कि सिम्हाद्री गुप्त निधि, दुगुना सोना करने और राइस पुल्लिंग जैसे नाम पर लोगों के साथ धोखाधड़ी करता था. इस धोखाधड़ी में उसने लगभग 28.50 लाख रुपये लोगों से लूटकर ले गया. पुलिस ने सिम्हाद्री के पास से लगभग तीन तोला सोना और 1,63,400 रुपये बरामद किया है.

एजेंट स्कैन करके लेकर आऊंगा

नवदीप सिंह ने आगे बताया कि 18 अक्टूबर को नागराजू ने दो लाख नगद और लगभग तीन तोला सोना लेकर बाइक पर रवाना हुआ. इस दौरान नागराजू की पत्नी ने पूछा कि सोने के आभूषण और इतनी रकम कहां और क्यों लेकर जा रहे हैं. जवाब में उसने बताया कि एलआईसी कार्यालय में एजेंट स्कैन करके लेकर आऊंगा.

उसी दिन रात को वट्लूरु पालिटेक्निक महाविद्याल के पास सड़क किनारे नागराजू बेहोश पड़ा हुआ पाया गया. उस रास्ते से गुजरने वाले एक कांस्टेबल ने उसे पहचाना और परिवार वालों को इसकी जानकारी दी. परिवार वालों ने नागराजू को एक निजी अस्पताल ले गए.

दस लोगों की हत्या को किया कबूल

डॉक्टरों ने उसे देखकर मृत घोषित कर दिया. इसके बाद नागराजू के परिवार वालों ने पुलिस थाने में इस घटना की शिकायत दर्ज की. दर्ज शिकायत में दो लाख रुपये और सोने का भी उल्लेख किया.

पुलिस की जांच पड़ताल में सिम्हाद्री द्वारा साइनाड देकर नागराजू द्वारा हत्या किए जाने का खुलासा हुआ. साथ ही पुलिस क गहन पुछताछ में सिम्हाद्री ने नागराजू के अलावा दस अन्य लोगों की भी हत्या किये जाने का अपराध स्वीकार किया. पुलिस मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई कर रही है.

ये भी पढ़ें-

दर्दनाक: दोस्त ने फिरौती के लालच में 5 जिगरी दोस्तों ने की किशोर की हत्या

बेटियों संग आत्महत्या के लिए कुएं में कूदी मां, खुद जिंदा लौटी, नाबालिग बेटियों की हो गई मौत