राफेल पर कांग्रेस के खिलाफ 5000 करोड़ का मुकदमा वापस लेंगे अनिल अंबानी

अनिल अंबानी की कंपनी एडीएजी ने नेशनल हेराल्ड के खिलाफ दायर याचिका में कहा था कि अखबार ने राफेल विमान डील को लेकर फर्जी और अपमानजनक लेख पब्लिश किए.

नई दिल्ली: उद्योगपति अनिल अंबानी कांग्रेस के खिलाफ किए मानहानि के मुकदमे को वापस लेने जा रहे हैं. रिलायंस ग्रुप ने फैसला किया है कि राफेल सौदे पर एक लेख को लेकर कांग्रेस नेताओं और नेशनल हेराल्ड अखबार के खिलाफ दायर मानहानि का मुकदमा वापस लिया जाए. 5000 करोड़ की मानहानि का ये मुकदमा अहमदाबाद की अदालत में चल रहा है.

नेशनल हेराल्ड के वकील पी एस चंपानेरी को रिलायंस की ओर से इसकी जानकारी दी गई है. चंपानेरी ने कहा कि केस को वापस लेने की औपचारिक प्रक्रिया, गर्मी की छुट्टी के बाद अदालत में फिर से शुरू होगी.

इन कांग्रेस नेताओं के खिलाफ है मुकदमा
अनिल अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस ग्रुप ने कई कांग्रेस नेताओं के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया है. इनमें सुनील जाखड़, रणदीप सिंह सुरजेवाला, ओमान चेंडी, अशोक चह्वाण, अभिषेक मनु सिंघवी, संजय निरूपम और शक्तिसिंह गोहिल शामिल हैं. साथ ही इस मामले में कुछ पत्रकारों व नेशनल हेराल्ड के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज है.

अनिल अंबानी की कंपनी एडीएजी ने समाचार पत्र के खिलाफ दायर याचिका में कहा था कि अखबार ने राफेल विमान डील को लेकर फर्जी और अपमानजनक आर्टिकल पब्लिश किए थे. नेशनल हेराल्ड के एडिटर इंचार्ज और आर्टिकल के लेखक विश्वदीपक के खिलाफ दीवानी मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया था.

नकारात्मक छवि प्रस्तुत करने का आरोप 
कंपनी का आरोप था की इस लेख से जनता गुमराह होगी. यह लेख एडीएजी के चेयरमैन अनिल अंबानी की नकारात्मक छवि को प्रदर्शित करता है. इससे लोगों पर गलत असर पडे़गा. इस आर्टिकल से कंपनी की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचा है, जिसकी भरपाई के लिए कंपनी ने समाचार पत्र पर 5000 करोड़ रुपए का मानहानि का मुकादमा कराया गया.

ये भी पढ़ें-

EVM मसले पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी हुए चिंतित, कहा- EC पर है सुरक्षा की जिम्मेदारी

नीतीश कुमार NDA की बैठक में होंगे शामिल, अमित शाह सहयोगियों को कराएंगे डिनर

VIDEO: EVM की सुरक्षा पर उठ रहे सवाल, चुनाव आयोग ने दिए जवाब