Tamil Nadu: जयराज-बेनिक्स केस से पहले भी पुलिस हिरासत में हुई बर्बरता, एक और शख्स ने रिहा होते ही तोड़ा दम

महेंद्रन की मां ने बताया, "मेरा बेटा 24 मई को घर वापस आया, उसे यहां लाया गया था. वह अपना हाथ और एक तरफ का पैर नहीं हिला पा रहा था. मैं उससे लगातार पूछती रही कि क्या हुआ लेकिन उसने मुझे इस बारे में शांत रहने को कहा."
another case police brutality, Tamil Nadu: जयराज-बेनिक्स केस से पहले भी पुलिस हिरासत में हुई बर्बरता, एक और शख्स ने रिहा होते ही तोड़ा दम

तमिलनाडु (Tamil Nadu) में पुलिस हिरासत (Police Custody) में हुई बाप-बेटे जयराज और बेनिक्स (Jayaraj and Beniks) की मौत का मुद्दा पिछले कुछ दिनों से हाईलाइट में है. इस बीच तूतीकोरिन जिले से पुलिस की क्रूरता का एक और मामला सामने आया है. खास बात यह है कि इस मामले में भी वही पुलिस अधिकारी शामिल हैं जो बाप-बेटे की मौत के मामले में थे.

भाई पर था हत्या में शामिल होने का आरोप

28 वर्षीय महेंद्रन नाम के शख्स को शाकुंतलम के सब इंस्पेक्टर रघु गणेश और उनकी टीम 23 मई की सुबह से उनके नाना के घर से उठा ले गई थी. मामला यह था कि महेंद्रन का बड़ा भाई 35 वर्षीय दुरई एक हत्या केस के आरोपियों में से एक था. ऐसे में रघु गणेश और उनकी टीम ने दुरई को पकड़ने के लिए महेंद्र को हिरासत में ले लिया.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

महेंद्रन की मां ने बताया, “मेरा बेटा 24 मई को घर वापस आया, उसे यहां लाया गया था. वह अपना हाथ और एक तरफ का पैर नहीं हिला पा रहा था. मैं उससे लगातार पूछती रही कि क्या हुआ लेकिन उसने मुझे इस बारे में शांत रहने को कहा.”

उन्होंने बताया कि ‘मैंने देखा कि महेंद्रन की तबीयत बहुत खराब हो गई थी, वो पानी भी नहीं पी पा रहा था. मैं उसे तूतीकोरिन में हॉस्पिटल लेकर गई. डॉक्टर ने उसके सिर को स्कैन किया तो पता चला कि उसे चोट लगी थी. मैंने गुरुवार को उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया था और शनिवार को उसकी मौत हो गई.’

जयराज-बेनिक्स की मौत का मामला

बता दें कि 59 वर्षीय पी. जयराज और उनके 31 वर्षीय बेटे बेनिक्स को लॉकडाउन नियमों का उल्लंघन कर तय समय से अधिक वक्त तक अपनी मोबाइल की दुकान खोलने के लिए 19 जून को गिरफ्तार किया गया था. दो दिन बाद एक अस्पताल में उनकी मौत हो गई थी.

जयराज और बेनिक्स के परिजनों ने हिरासत में पुलिस द्वारा उनके साथ बर्बरता किए जाने का आरोप लगाया था. जयराज के घर में उनकी पत्नी और तीन बेटियां हैं. जयराज की पत्नी सेल्वारानी ने शिकायत दर्ज कराते हुए आरोप लगाया था कि पुलिसिया बर्बरता के कारण उनके पति और बेटे की मौत हुई.

इस मामले में बीते एक जुलाई को छह पुलिसकर्मियों पर हत्या का केस दर्ज किया गया था. अब तक इस मामले में चार पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

Related Posts