Coronavirus: नोएडा के DM बीएन सिंह के बाद CMO अनुराग भार्गव पर भी गिरी गाज, हुआ तबादला

सोमवार को नोएडा दौरे पर आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने जिले में कोरोना की रोकथाम और प्रशासनिक तैयारियां को लेकर अधिकारियों की मीटिंग बुलाई थी. मीटिंग में उन्होंने तत्कालीन जिलाधिकारी बीएन सिंह और CMO को फटकार लगाई थी.
Chief Medical Officer CMO, Coronavirus: नोएडा के DM बीएन सिंह के बाद CMO अनुराग भार्गव पर भी गिरी गाज, हुआ तबादला

यूपी के नोएडा (Noida) में कोरोना संक्रमण के नियंत्रण में लापरवाही को लेकर जिले के वरिष्ठ अधिकारियों पर कार्रवाई जारी है. जिलाधिकारी (DM) बीएन सिंह (BN Singh) के बाद बुधवार देर रात जिले के चीफ मेडिकल ऑफिसर (सीएमओ) अनुराग भार्गव (Anurag Bhargava) का तबादला कर दिया गया है.

अनुराग भार्गव की जगह एपी चतुर्वेदी गौतमबुद्ध नगर जिले के नए सीएमओ नियुक्त हुए हैं. राज्य सरकार ने नए सीएमओ की नियुक्ति ऐसे वक्त में की है, जब अकेले गौतमबुद्ध नगर जिले में कोरोना के कुल 45 मामले सामने आ चुके हैं.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

Chief Medical Officer CMO, Coronavirus: नोएडा के DM बीएन सिंह के बाद CMO अनुराग भार्गव पर भी गिरी गाज, हुआ तबादला

सीएम योगी ने मीटिंग में लगाई फटकार

बता दें कि सोमवार को नोएडा दौरे पर आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने जिले में कोरोना की रोकथाम और प्रशासनिक तैयारियां को लेकर अधिकारियों की मीटिंग बुलाई थी. मीटिंग में उन्होंने तत्कालीन जिलाधिकारी बीएन सिंह और CMO के काम पर सवाल उठाए थे.

सीएम योगी ने इस दौरान जिलाधिकारी और CMO को फटकार भी लगाई थी. इसके बाद मुख्य सचिव ने बताया कि बीएन सिंह को कोविड-19 की रोकथाम, सर्विलांस में कमी, आउट ब्रेक रिस्पॉन्स कमेटी के अध्यक्ष के रूप में अपने दायित्वों के निर्वहन में लापरवाही बरतने के चलते हटा दिया गया.

सीएम योगी ने ‘सीज फायर’ कंपनी को सील न किए जाने पर सवाल खड़े किए थे. इस पर बीएन सिंह कुछ सफाई पेश करने लगे, जिससे CM योगी और अधिक नाराज हो गए.

मुख्यमंत्री ने ने बीएन सिंह से कहा,”बकवास मत करिए. अपनी जिम्मेदारी दूसरों पर डालना बंद करिए. दो महीने पहले अलर्ट जारी किया गया था, तब से क्या किया गया.”

मुकदमा दर्ज करने का निर्देश

वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में चार दिवसीय तब्लीग जमात से लौटे प्रदेश के 157 लोगों के अपनी जांच न कराने पर सख्त नाराजगी जताई है. उन्होंने सूचना छिपाने वालों पर कड़ी कार्रवाई करते हुए मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिए हैं.

मुख्यमंत्री बुधवार को अपने आवास पर कोरोना वायरस कोविड-19 पर नियंत्रण के लिए लागू लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि दिल्ली से लौटे जमातियों के बारे में जानकारी लेने के साथ ही सभी को निर्देश दिया कि अगर कोई भी इनके बारे में कोई सूचना नहीं देता है या फिर इनकी पहचान छुपाने का प्रयास करता है तो फिर उसके खिलाफ ही केस दर्ज करें.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts