संसद में सरकार ने बताया, घाटी में अब तक इतने आतंकवादियों को पहुंचाया दोजख

सरकार का कहना है कि आतंक के खिलाफ उसकी जीरो टालरेंस पालिसी है इसके अलावा ये नीति भारत सरकार उनलोगों पर पूरी तरीके से नजर रख रही है जो मौजूदा समय में आतंकियों की मदद कर रहे हैं.

नई दिल्ली: नई सरकार के गठन के बाद संसद का बजट सत्र चल रहा है. लोकसभा में गृह मंत्रालय ने घाटी में सुरक्षाबलों की कार्रवाई का ब्योरा दिया. जम्मू कश्मीर में पिछले तीन साल में अब तक 733 आतंकवादी मारे गए हैं.

लोकसभा में बताया गया कि इस साल अब तक 16 जून तक 113 आतंकी मारे गए हैं जबकि 18 आम नागरिक भी मारे गए हैं. 2018 में 257 और 2017 में 213 आतंकी मारे गए हैं, 2016 में 150 आतंकी मारे गए थे.

सरकार का कहना है कि आतंक के खिलाफ उसकी जीरो टालरेंस पालिसी है इसके अलावा ये नीति भारत सरकार उनलोगों पर पूरी तरीके से नजर रख रही है जो मौजूदा समय में आतंकियों की मदद कर रहे हैं.

केंद्रीय कैबिनेट ने सोमवार को देश और विदेश में आतंकी मामलों की जांच में नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) को और मजबूत बनाने के लिए 2 कानूनों को संशोधित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. कैबिनेट ने गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) कानून में संशोधन को मंजूरी दी है, जिससे आतंकवाद से जुड़े लोगों को आतंकी घोषित किया जा सकेगा.

वहीं एनआईए कानून में संशोधन के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई है, ताकि एजेंसी को और सशक्त बनाया जा सके. इस संसोधन के बाद एजेंसी भारत के बाहर भी भारतीय नागरिकों या उनके हितों को नुकसान पहुंचने की स्थिति में मामला दर्ज कर जांच कर सकती है.

गौरतलब है कि जम्‍मू कश्‍मीर में आतंकियों के खिलाफ चलाए जा रहे ऑपरेशन ऑल आउट में अब तक 114 आतंकियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया था. इस कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने सबसे बड़ी चोट आतंकी संगठन जैश ए मोहम्‍मद को दी है. सुरक्षाबलों ने बीते छह महीनों में जैश के 38 आतंकियों को ढेर कर दिया है. बता दें कि सुरक्षाबलों की कार्रवाई में मारे गए जैश के 24 आतंकी स्‍थानीय थे, जिन्‍हें पाकिस्‍तान समर्थित आतंकियों ने बहकाकर आतंक के रास्‍ते पर भेज दिया था.

मारे गए आतंकियों में हिजबुल मुजाहिद्दीन के 36, लश्‍कर ए तैयबा के 24, जैश ए मोहम्‍मद के 38, अल बदर के 5, अंसार गजवतुल हिंद के 5 और आईएस के 5 आतंकी शामिल है. कार्रवाई में मारे गए तीन आतंकी अभी तक ऐसे हैं, जिनकी न तो शिनाख्त हो सकी है और न ही यह पता चल सका है कि वे किस आतंकी संगठन से जुड़े हुए थे.

जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस की स्‍पेशल ऑपरेशन स्‍क्‍वायड ने अपनी संयुक्‍त कार्रवाई में जनवरी से जून के तक कुल 20 विदेशी आतंकियों को ढेर कर दिया है. जिसमें जैश के 14 और लश्‍कर ए तैयबा के चार आतंकी शामिल है. कार्रवाई में मारे गए दो आतंकी ऐसे हैं, जिनकी पहचान नहीं हो सकी है.

(Visited 22 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *