सेना प्रमुख बिपिन रावत ने बताया सेना कैसे कर रही है भविष्य के जंग की तैयारी

DRDO के एक कार्यक्रम में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल की उपस्थिति में बोले बिपिन रावत.

भारतीय सेना प्रमुख बिपिन रावत ने भविष्य के खतरों से लोहा लेने के लिए सेना की तैयारी की जानकारी दी है. मंगलवार को DRDO (भारतीय रक्षा अनुसंधान संगठन) के कार्यक्रम में जनरल बिपिन रावत ने कहा कि हम ऐसे सिस्टम पर नजर बनाए हैं जिसकी जरूरत भविष्य के युद्धों में होगी.

सेनाप्रमुख ने कहा कि हमें स्पेस, साइबर, लेजर, इलेक्ट्रॉनिक और रोबोटिक टेक्नॉलजी को बढ़ाना होगा ताकि भविष्य की चुनौतियों का सामना किया जा सके. उन्होंने बताया कि DRDO ने देश के लिए कई ऐसे काम किये हैं जो काफी फायदेमंद साबित हुए हैं. बिपिन रावत ने कहा कि हमें पूरा विश्वास है कि हम अगली लड़ाई स्वदेशी हथियारों से लड़ेंगे और जीतेंगे.

इसी कार्यक्रम में सेनाध्यक्ष से पहले नेवी प्रमुख चीफ एडमिरल करमबीर सिंह ने कहा कि अभी हमें तीन मोर्चों पर काम करना होगा. टेक्नॉलजी का भरपूर इस्तेमाल करना होगा. अमेरिका किस तरह के प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहा है ये नजर रखनी होगी और DRDO को जल्दी तैयार होने वाले छोटे इनोवेशन करने होंगे.

इस कार्यक्रम में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, सेना प्रमुख बिपिन रावत, नेवी चीफ एडमिरल करमबीर सिंह, एयरफोर्स चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल मौजूद रहे.

ये भी पढ़ें: