बंदूक की नोक पर कश्‍मीरियों को भड़का रहे हैं आतंकी: आर्मी चीफ जनरल रावत

आतंकियों द्वारा स्‍थानीय लोगों को निशाना बनाए जाने की घटनाओं पर जनरल रावत ने यह टिप्‍पणी की. घाटी में 5 अगस्‍त से ही सुरक्षा बल तैनात हैं.

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा है कि ‘कश्‍मीर के लोगों को बंदूक की नोक पर भड़काने’ की कोशिशें हो रही हैं. रावत ने कहा कि जब तक यह खतरा बरकरार रहेगा, घाटी में सेना तैनात रहेगी. आतंकियों द्वारा स्‍थानीय लोगों को निशाना बनाए जाने की घटनाओं पर जनरल रावत ने यह टिप्‍पणी की.

जनरल रावत ने कहा, “लोगों को बदनाम करने के लिए आतंकी अफवाहें फैला रहे हैं और बंदूक की नोक पर दूसरों को भड़काने की कोशिश कर रहे हैं. इस खतरे को हटाने के लिए हमें वहां सैनिकों की जरूरत है.”

घाटी में 5 अगस्‍त से ही सुरक्षा बल तैनात हैं. हाल ही में LoC पर PoK के लोगों ने विरोध-प्रदर्शन किए. एक समूह तो नौशेरा में भारतीय पोस्‍ट्स की तरफ बढ़ने लगा. उन्‍हें चेतावनी में गोलीबारी कर भगाया गया.

युवाओं के आतंकी संगठनों को ज्‍वाइन करने की रिपोर्ट्स पर एक वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि बड़े पैमाने पर ऐसा कुछ नहीं हो रहा है. सभी तरह के प्रतिबंध हटने के बाद सुरक्षा बल कुछ हद तक हिंसा की संभावना जता रहे हैं.

अनुच्छेद 370 को रद्द कर जम्मू एवं कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा खत्म कर दिया गया, और उसके बाद पांच अगस्त से ही घाटी में सुरक्षा-व्यवस्था काफी चुस्त कर दी गई है. वहां व्यापक रूप से प्रतिबंध लगाए गए हैं.

ये भी पढ़ें

पाकिस्तान ने आतंकी मसूद अजहर को जेल से किया रिहा, IB ने जारी किया बड़े हमले का अलर्ट

सैन्य खर्चों की लिस्ट में कभी टॉप-10 में भी नहीं था भारत, तीसरे नंबर तक पहुंचने में लगे 100 साल