आर्टिकल 370: केंद्र को SC का नोटिस, गुलाम नबी आजाद को कश्‍मीर के तीन जिलों में जाने की इजाजत

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि कश्मीर में क्या हो रहा है, वहां की स्थिति को लेकर केंद्र सरकार 2 हफ्ते में जवाब दायर करे.

आर्टिकल 370 से जुड़ी कई याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट सोमवार को सुनवाई कर रहा है. जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री व वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद गुलाम नबी आजाद ने अदालत में कहा कि वह कोई राजनीतिक रैली नहीं करेंगे. वह कश्‍मीर की तीन जिलों में लोगों से बात करने के लिए जाना चाहते हैं. आजाद ने सुप्रीम कोर्ट में लिखकर दिया है कि वह राजनीति गतिविधि में हिस्‍सा नहीं लेंगे. आजाद को अनंतनाग, बारामूला और जम्‍मू जाने की इजाजत दी गई है.

राज्यसभा सदस्य और MDMK के संस्थापक वाइको की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को नोटिस भेज 30 सितंबर तक जवाब मांगा है. कोर्ट ने अपने आदेश में बदलाव करने से इंकार किया. माकपा नेता सीताराम येचुरी की उस याचिका पर भी सुनवाई हुई जिसमें उन्‍होंने अपनी पार्टी के बीमार नेता एम वाई तारिगामी से मिलने की अनुमति मांगी थी. अदालत ने तारिगामी से हाई कोर्ट जाने को कहा है. वह श्रीनगर वापस लौटने को स्‍वतंत्र हैं. कश्मीर टाइम्स की संपादक अनुराधा भसीन की याचिका पर भी सुनवाई हुई जिसमें उन्होंने कश्मीर में मीडिया पर लगाए प्रतिबंधों को हटाने की बात कही है.

  • सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि कश्मीर में क्या हो रहा है, वहां की स्थिति को लेकर केंद्र सरकार 2 हफ्ते में जवाब दायर करे. कोर्ट ने हालात को सामान्य करने के लिए सरकार को हर संभव कोशिश करने को कहा. सुप्रीम कोर्ट ने राज्य में स्कूल और कॉलेजों को सामान्य बहाल करने के निर्देश दिए.
  • अटॉर्नी जनरल- कश्मीर में बड़े पैमाने पर पाकिस्तान हाई कमीशन द्वारा आतंकियों को फंडिंग की जा रही है. जहूर वटाली को कश्मीर में तनाव का माहौल पैदा करने के लिए और पत्थर बाजों को पैसा देने के लिए पाकिस्तान से पैसा भेज जा रहा है. वहां पर अभी भी कुछ पाबंदियां हैं जो सुरक्षा कारणों से हैं. कश्मीर में अलगाववादी और सीमा पार से आये आतंकियों ने कुछ लोगों और सुरक्षा कर्मियों को मार डाला है.
  • केंद्र सरकार का कहना है कि जम्मू और कश्मीर में स्थिति 1990 से बहुत गंभीर थी. 1990 के बाद 14000 से अधिक आतंकवादी घटनाएं हुईं. 5000 से अधिक सैनिक, 14000 से अधिक नागरिक मारे गए. 1990 के बाद से लगभग 22000 आतंकवादी समाप्त कर दिए गए.
  • अटॉर्नी जनरल ने बताया कि कश्मीर में न्यूज़ पेपर 5 अगस्त से पब्लिश हो रहा है, दूरदर्शन और कई लोकल टीवी चैनल टेलीकास्ट हो रहे है, इसके अलावा कई रेडियो भी ब्रॉडकास्ट हो रहे है, मीडिया कर्मियों को सारी सुविधाएं दी जा रही है. उनको इंटरनेट और टेलीफोन की सुविधा मुहैया कराई जा रही हैं. नियमित प्रेस कॉन्फ्रेंस भी हो रही है.
  • कश्मीर टाइम्स ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि कश्मीर में इंटरनेट सेवा बन्द है, मीडिया सही काम नही कर पा रही है. CJI ने कहा आप अपनी मांग की लेकर हाइकोर्ट क्यों नही गई. उन्होंने अटॉर्नी जनरल से इस बारे में पूछा- क्या ऐसा है?
  • सीतराम येचुरी की अर्जी पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने उनकी पार्टी के नेता यूसुफ त्रिगामी को जम्मू कश्मीर लौटने की इजाजत तो दे दी , लेकिन उन्हें जम्‍मू-कश्मीर में बिना किसी रोक के घूमने या फिर सुरक्षा मुहैया कराने पर कोई आदेश देने से इंकार किया.
  • सीपीआई (एम) नेता सीताराम येचुरी की याचिका पर CJI ने पूछा- आपकी पार्टी के नेता एम वाई त्रिगामी की तबियत कैसी है? वरिष्ठ वकील राजू रामचंद्रन ने बताया कि उनकी AIIMS में अंजियोग्राफी के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है. अब वे दिल्ली में जम्मू- कश्मीर गेस्ट हाउस में रुके हुए हैं.
  • MDMK नेता वाइको की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने 30 सितंबर तक केंद्र से जवाब मांगा है.