अरुण जेटली के अंतिम संस्‍कार में चोर ने बोला धावा, बाबुल सुप्रियो समेत 11 के फोन गायब

बाबुल सुप्रियो ने तिजारावाला ने कहा कि यह चोरी नहीं, कोई बड़ी चालाकी से जेब काट गया. उन्‍होंने कम से कम 35 लोगों के फोन गायब होने का दावा किया.

पूर्व वित्तमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के दिग्गज नेता अरुण जेटली के अंतिम संस्‍कार में कोई चोर 11 मोबाइल पर हाथ साफ कर दिया. रविवार को निगमबोध घाट पर दाह संस्‍कार के समय बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो और 10 अन्‍य लोग इस चोर का शिकार बने. पतंजलि के प्रवक्‍ता एसके तिजारावाला ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी.

तिजारावाला ने ट्विटर पर लिखा कि ‘रविवार शाम मेरा, पूर्व मंत्री व सांसद बाबुल सुप्रियो और 9 अन्‍य लोगों के फोन चोरी हो गए.’ पुलिस के वरिष्‍ठ अधिकारी ने कहा कि इस बारे में शिकायत दर्ज कर ली गई है. नार्थ डिस्ट्रिक्ट के सीनियर अफसरों के मुताबिक, “हमने FIR दर्ज की है और फोन को ट्रैकिंग पर लगाया है, उस वक़्त बारिश भी हो रही थी तो एक संभावना ये भी है कि फोन कहीं गिरा होगा. लेकिन हमने चोरी की FIR दर्ज की है.”

पतंजलि प्रवक्‍ता ने ट्वीट में कहा, “हम जब जब दुखी मन से अरुण जेटली को अंतिम प्रणाम कर रहे थे, तब ये फोटो जिस फोन से लिया गया था, उसने भी मुझे अंतिम प्रणाम कर गया.” तिजारावाला ने अपने फोन की लोकेशन भी ट्वीट की.

बाबुल सुप्रियो ने तिजारावाला के ट्वीट के जवाब में कहा कि यह चोरी नहीं, कोई बड़ी चालाकी से जेब काट गया. उन्‍होंने लिखा, “चोरी नहीं दादा. बहुत स्‍मार्टली पिकपॉकेट कर गया. एक ही जगह से हम 6 लोगों के फोन गायब हुए. मैंने खुद को बचाने में उस बंदे का हाथ पकड़ा मगर फिसल गया. मुझे बताया गया है कि कम से कम 35 लोगों के फोन गायब हुए.”

जेटली अंत्येष्टि में भाजपा के प्रमुख नेता और नरेंद्र मोदी सरकार में शामिल मंत्रियों के अलावा उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे. पी. नड्डा और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला मौजूद थे.

ये भी पढ़ें

PM मोदी-ट्रंप की जुगलबंदी की ये तस्वीरें देख आपा खो बैठे इमरान खान

भ्रष्टाचार करने वाले 22 अफसरों पर मोदी सरकार सख्त, किया जबरन रिटायर