नाचने और ड्राइविंग करने से दूर ही रहते थे भाजपा के संकटमोचक, जानें दिलचस्‍प बातें

स्‍टूडेंट पॉलिटिक्‍स में उतरने से पहले जेटली और उनके दोस्‍त डिस्‍कोथेक जाया करते थे. तब दिल्‍ली में 'सेलर' नाम का इकलौता डिस्‍कोथेक हुआ करता था.

Arun Jaitley Passes Away at AIIMS: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली का दिल्‍ली स्थित AIIMS में निधन हो गया है. वह 66 वर्ष के थे और लंबे समय से बीमार चल रहे थे. जेटली का जाना बीजेपी के लिए एक बड़े झटके की तरह है क्‍योंकि वह पार्टी के लिए संकटमोचक की भूमिका निभाते थे. पार्टी के वरिष्‍ठ नेता अपने सहयोगी के निधन पर शोक जता रहे हैं. इस बीच उनके साथ वक्‍त गुजारने वाले जेटली संग बिताए पलों को याद कर गमगीन हैं.

अरुण जेटली ने दिल्‍ली यूनिवर्सिटी में छात्र राजनीति से शुरुआत की. बीबीसी हिंदी ने लेखिका कुमकुम चड्ढा के हवाले से लिखा है कि स्‍टूडेंट पॉलिटिक्‍स में उतरने से पहले जेटली और उनके दोस्‍त डिस्‍को जाया करते थे. तब दिल्‍ली में ‘सेलर’ नाम का इकलौता डिस्‍कोथेक हुआ करता था.

कुमकुम ने बीबीसी को जेटली के कॉलेज की एक दोस्त बीना के हवाले से बताया, “उनका (जेटली) डिस्कोथेक जाना नाम भर का ही होता था, क्योंकि उन्हें नाचना बिल्कुल नहीं आता था. उन्हें ड्राइविंग करना भी कभी नहीं आया. जब तक उनकी ड्राइवर रखने की हैसियत नहीं हुई, उनकी पत्नी संगीता ही उनकी कार चलाती थीं.”

जेटली की गिनती देश के टॉप वकीलों में होती थी. अरुण जेटली की शादी संगीता डोगरा से हुई जो कांगेस के बड़े नेता गिरधारी लाल डोगरा की बेटी हैं. जेटली को महंगी चीजों का शौक था. ‘मो ब्लां’ पेन्‍स का उनके पास अच्‍छा-खासा कलेक्‍शन था.

ये भी पढ़ें

अरुण जेटली को हुई थी यह खतरनाक बीमारी, किसी भी उम्र में बना सकती है शिकार

अरुण जेटली के अनसुने किस्से: जब कांग्रेस सरकार का विरोध करने के लिए जेल में काटे थे 19 महीने