कांग्रेस को लेकर अरुण जेटली का आखिरी ट्वीट, जिसमें कहा था- हेडलेस चिकन

सभी जानते हैं कि जेटली सोशल मीडिया में काफी एक्टिव रहते थे. जेटली ब्लॉग लिखते थे और ट्विटर पर भी अपने विचार साझा करते थे

नई दिल्ली: भारत के पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का लंबी बीमारी के बाद आज निधन हो गया. अरुण जेटली ने दिल्ली के एम्स अस्पताल में आखिरी सांस ली. उनके निधन से पूरे देश में शोक की लहर है. सभी जानते हैं कि जेटली सोशल मीडिया में काफी एक्टिव रहते थे. जेटली ब्लॉग लिखते थे और ट्विटर पर भी अपने विचार साझा करते थे.

लोगों ने उनको आखिरी बार सोशल मीडिया पर इसी महीने सात अगस्त को सक्रिय देखा था जब उन्होंने महान संत तुलसीदास जी की जयंती पर उनको नमन किया था. इसके अलावा उन्होंने इसी दिन पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर शोक भी जताया था.

कांग्रेस पार्टी तो हेडलेस चिकन की तरह है. वो भारत के लोगों से अब दूर जा रहा है. नया भारत बदल चुका है. सिर्फ कांग्रेस इस बात को समझ नहीं पा रही है. कांग्रेस नेतृत्व लगातार रेस में नीचे से अव्वल आने की ओर भाग रही है.”


आपको बता दें, अरुण जेटली ने अपने ब्लॉग में जम्मू-कश्मीर से धारा 370 का जिक्र करते हुए कई बाते लिखी थी. उन्होंने अपने पहले ट्वीट में लिखा था प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने कश्मीर नीति को लेकर जो कदम उठाया है वह असंभव था. अरुण जेटली ने ट्वीट किया कि उन्होंने अपने ब्लॉग में मोदी सरकार के इस फैसले की विवेचना की थी. इसमें जम्मू-कश्मीर के मुद्दे को लेकर इतिहास में हुए असफल प्रयासों का भी जिक्र किया गया था.

इसी के साथ उन्होंने दूसरे ट्वीट में लिखा- “सात दशकों से कभी भी जम्मू-कश्मीर को लेकर सही कदम नहीं उठाया गया. वहां जुड़ाव कि नहीं अलगाववाद की बात होती रही. इससे वहां पर अलगाववादी मानसिकता का विकास हुआ. पाकिस्तान कई दशकों से इसी मानसिकता का फायदा उठाता आया है.