विधानसभा में बोले अरविंद केजरीवाल, ‘जब तक मैं जिंदा हूं, झुग्गीवालों को उजड़ने नहीं दिया जाएगा’

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि ऐसा नियम है कि झुग्गी हटाने के पहले पक्का मकान देना होता है. जहां से झुग्गी हटाई जाती है सरकार को वहां से पांच किलोमीटर के दायरे में मकान देना पड़ता है.

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने एक आदेश में तीन महीने के भीतर दिल्ली में रेलवे पटरियों के आसपास से लगभग 48,000 झुग्गियों को हटाने के निर्देश दिए थे. जिसे लेकर विधानसभा सत्र में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि जब तक मैं जिंदा हूं, तब तक झुग्गी वालों को उजड़ने नहीं दिया जाएगा. बिना झुग्गी वालों के दिल्ली एक भी दिन नहीं चल सकती है. 48 हजार झुग्गियों को हटाने के मामले में अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ये मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है. इस महामारी के दौर में झुग्गियों को उजाड़ना सही नहीं होगा. कहीं ऐसा न हो कि झुग्गियों के उड़ने से ये इलाके हॉटस्पॉट बन जाएं.

झुग्गीवालों को उजड़ने नहीं देंगे

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ऐसा नियम है कि झुग्गी हटाने के पहले पक्का मकान देना होता है. जहां से झुग्गी हटाई जाती है सरकार को वहां से पांच किलोमीटर के दायरे में मकान देना पड़ता है. हमारी सरकार ने DUSIB पॉलिसी बनाई है. दिल्ली को चलाने में झुग्गी वाले अहम भूमिका निभाते हैं. एक दिन भी अगर झुग्गी वाले काम बंद कर दें तो दिल्ली भी ठहर जाएगी. 70 सालों तक राजनीति करने वाले और एजेंसियों ने इनके लिए कोई प्लानिंग नहीं की और न ही इनके घर बनाए. झुग्गी के पांच किलोमीटर के दायरे में पक्का मकान मिलना चाहिए. उन्होंने कहा कि ”जब तक मैं जिंदा हूं, तब तक झुग्गी वालों को उजड़ने नहीं दूंगा.”

झुग्गी हटाने से पहले दिया जाएगा मकान

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ”झुग्गी हटने से पहले हम यह सुनिश्चित करेंगे कि सभी को पक्का मकान मिले. झुग्गी वालों को केंद्र या फिर राज्य सरकार पक्का मकान देगी. केंद्र सरकार ने अपने हलफनामे में कहा है कि 4 हफ्ते में समाधान निकालेंगे. झुग्गी के मामले में सभी एजेंसिंयों को एक साथ आना होगा.”

सुप्रीम कोर्ट ने झुग्गी हटाने का दिया आदेश

अदालत ने हाल ही में दिल्ली में रेलवे के किनारे बनी लगभग 48,000 झुग्गियों को हटाने का निर्देश दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा था कि झुग्गी-बस्तियों को हटाने का काम चरणबद्ध तरीके से होना चाहिए. रेलवे सुरक्षा जोन में सबसे पहले अतिक्रमण हटाया जाना चाहिए. झुग्गी हटाने के काम में किसी भी तरह की राजनैतिक दखलअंदाजी बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

Related Posts