दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर बोले केजरीवाल- दांव पर लगी है सेहत, ब्लेम गेम से क्या मिलेगा

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस समय बीमारी ये है कि फसलों का धुंआ यहां आ रहा है और फसलों के धुएं को रोकना है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि राजधानी में प्रदूषण कम करने के लिए कई उपाय किए हैं. उन्होंने कहा कि हम ब्लेम गेम नहीं खेल रहे हैं. ये हमारी सेहत का मामला है. हमारे बच्चों की सेहत दांव पर लगी हुई है. दिल्ली के लोगों की सेहत का मामला है. आखिर आरोप लगाने से क्या मिलेगा.

उन्होंने कहा, “इस समय बीमारी ये है कि फसलों का धुंआ यहां आ रहा है और फसलों के धुएं को रोकना है. हम चाहते हैं कि सब लोग मिलकर इसे रोकने की कोशिश करें. यह बात हर कोई बता रहा है कि फसलों का धुंआ दिल्ली के अंदर आ रहा है, इस वजह से चारों ओर इतना प्रदूषण है.”

इससे पहले प्रदूषण को रोकने के लिए सीएम केजरीवाल ने केंद्र सरकार से राहत व बचाव कार्य करने की अपील की. उन्होंने कहा कि पूरे देश में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है. दिल्ली सरकार ने कई कदम उठाए हैं.

केजरीवाल ने कहा कि बिना कुछ किए दिल्लीवासियों को खामियाजा भुगतना पड़ रहा है. पंजाब के मुख्यमंत्री ने भी अपनी चिंता व्यक्त की है. केंद्र सरकार को राहत व बचाव के लिए कदम उठाना चाहिए. हम केंद्र सरकार की हर पहल का समर्थन करेंगे.

खतरनाक स्तर तक पहुंचा AQI
गौरतलब है कि दिल्ली में रविवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) खतरनाक स्तर तक पहुंच गया. शनिवार शाम थोड़ी राहत के बाद 625 के खतरनाक स्तर तक पहुंचने के चलते वापस से शहर में ‘गंभीर प्लस श्रेणी’ बरकरार है. हलांकि, मौसम विभाग का कहना है कि रविवार को इसमें कुछ राहत मिलने की संभावना है परंतु प्रदूषकों (पोल्यूटेंट) के चलते दृश्यता पर असर पड़ रहा है.

छिटपुट बारिश के बाद एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) के 400 के स्तर से नीचे गिर जाने के चलते शनिवार को कुछ राहत मिली थी. यदि हालात ऐसे ही रहे तो दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में गैर-आवश्यक ट्रकों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाना पड़ सकता है.

ये भी पढ़ें-

5 साल अपमान सहना है या नहीं, तय करे शिवसेना: NCP नेता नवाब मलिक

शिवसेना को मिला 170 से ज्यादा विधायकों का समर्थन, 175 पार भी जा सकता है आंकड़ा: संजय राउत

Air Pollution: लखनऊ में जहरीली हुई हवा, चक्कर खाकर गिर रहे लोग, 3 अस्पताल में भर्ती