VIDEO: शपथ ग्रहण में जय श्रीराम के नारे पर बोले ओवैसी, ‘काश! बिहार में बच्चों की मौत भी याद आती’

मंगलवार को जैसे ही ओवैसी अपनी सीट से उठकर शपथ के लिए वेल में आए बीजेपी और उसके सहयोगी दलों के सांसदों ने जय श्रीराम, भारत माता की जय, वंदे मातरम के नारे लगाने शुरू कर दिए.

नई दिल्ली: ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने संसद सत्र के दूसरे दिन सांसद पद की शपथ ली. ओवैसी जब शपथ ले रहे थे तो संसद में जय श्रीराम के नारे गूंजने लगे.

जिसकी प्रतिक्रिया में ओवैसी ने कहा कि मुझे देखकर उन्हें जय श्री राम की याद आई अच्छा है. और भी अच्छा होता अगर उन्हें बिहार के मुजफ़्फ़रपुर में हुए बच्चों की मौत की भी याद आती.

दरअसल, मंगलवार को जैसे ही ओवैसी अपनी सीट से उठकर शपथ के लिए वेल में आए बीजेपी और उसके सहयोगी दलों के सांसदों ने जय श्रीराम, भारत माता की जय, वंदे मातरम के नारे लगाने शुरू कर दिए.

जवाब में ओवैसी ने भी दोनों हाथों को ऊपर उठाते हुए जोर-जोर से नारे लगाने का इशारा किया. इसके बाद उन्होंने अपनी शपथ पूरी की और अंत में जय भीम, जय भीम, अल्लाह-हू-अकबर और जय हिन्द के नारे लगाए.

सोमवार को पीएम मोदी, राजनाथ, शाह, राहुल सहित विभिन्न सदस्यों ने ली शपथ

सत्रहवीं लोकसभा का प्रथम सत्र सोमवार को उत्साह के माहौल के बीच शुरू हुआ तथा सत्ता पक्ष के सदस्यों ने बीच बीच में ‘भारत माता की जय’ और ‘जय श्रीराम’ के नारे लगाये. पहले दिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह समेत कई केंद्रीय मंत्रियों तथा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित 21 राज्यों के 200 से अधिक नवनिर्वाचित सदस्यों ने निचले सदन की सदस्यता की शपथ ली.

बैठक शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री ने विपक्ष को साधने का प्रयास करते हुए कहा कि उन्हें अपनी संख्या को लेकर परेशान होने की जरूरत नहीं है और उनका हर शब्द सरकार के लिए ”मूल्यवान” है. मोदी ने संसद परिसर में संवाददाताओं से बातचीत में सभी सांसदों से सदन में निष्पक्ष होने और देश के व्यापक हित से जुड़े विषयों पर ध्यान देने का आग्रह किया.

निचले सदन की बैठक राष्ट्रगान की धुन बजाई जाने के साथ शुरू हुई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सदन के नेता होने के नाते सबसे पहले शपथ ली. उन्होंने हिंदी में शपथ ली. शपथ लेने के लिए लोकसभा महासचिव ने जैसे ही प्रधानमंत्री मोदी का नाम पुकारा, सदस्यों ने मेजें थपथपाकर उनका स्वागत किया. भाजपा के सदस्यों ने ”मोदी..मोदी” और ”भारत माता की जय” के नारे भी लगाये.

प्रधानमंत्री मोदी के बाद पीठासीन अध्यक्षों के पैनल में शामिल कांग्रेस के के. सुरेश, बीजद के बी महताब और भाजपा के ब्रजभूषण शरण सिंह ने शपथ ली. सुरेश और सिंह ने हिंदी तथा महताब ने उड़िया में शपथ ली. इन तीनों सदस्यों के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, रसायन एवं उर्वरक मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा, मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन और महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी सहित मंत्रिपरिषद के अन्य सदस्यों ने भी शपथ ली.

प्रधानमंत्री और अधिकतर मंत्रियों ने हिंदी में शपथ ली, वहीं हर्षवर्धन, श्रीपद नाइक, अश्वनी कुमारी चौबे और प्रताप सारंगी ने संस्कृत भाषा में शपथ ली.

डी वी सदानंद गौड़ा और प्रहलाद जोशी ने कन्नड में शपथ ली, वहीं हरसिमरत कौर बादल ने पंजाबी में शपथ ली.

और पढ़ें- IND VS PAK: तोड़े जा रहे हैं टीवी सेट्स, ये पाकिस्तान को हुआ क्या है?

केंद्रीय मंत्री अरविंद सावंत, रावसाहब दानवे पाटिल ने मराठी में शपथ ली, वहीं जितेंद्र सिंह ने डोगरी, बाबुल सुप्रियो ने अंग्रेजी, रामेश्वर तेली ने असमिया और देबश्री चौधरी ने बांग्ला में शपथ ली.