हरियाणा कांग्रेस को झटका, अशोक तंवर ने पार्टी से दिया इस्तीफा; ये है वजह

अशोक तंवर हरियाणा चुनाव के लिए कांग्रेस उम्मीदवारों को टिकट देने से नाराज़ थे.
Ashok Tanwar resigns from Congress, हरियाणा कांग्रेस को झटका, अशोक तंवर ने पार्टी से दिया इस्तीफा; ये है वजह

हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर ने आख़िरकार पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. हरियाणा चुनाव से पहले तंवर का इस्तीफ़ा कांग्रेस के लिए झटका माना जा रहा है.

तंवर ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजे त्यागपत्र में आरोप लगाया कि पार्टी को खत्म करने की साजिश रची जा रही है. कुछ दिनों पहले ही उन्होंने राज्य विधानसभा चुनाव के लिए बनी विभिन्न समितियों से इस्तीफा दे दिया था।

तंवर ने कहा कि उनके सामने पार्टी छोड़ने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा था और वह फिलहाल बीजेपी या किसी अन्य पार्टी में शामिल होने नहीं जा रहे हैं.

उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि राहुल गांधी के करीबियों की ‘राजनीतिक हत्या’ की जा रही है.

ज़ाहिर है हाल ही में उनसे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद छीन लिया गया था. सोनिया गांधी की बेहद क़रीबी कुमारी शैलजा को उनकी जगह अध्यक्ष बनाया गया.

अशोक तंवर कांग्रेस के लिए दलित चेहरा थे इसलिए उनको हटाकर कुमारी शैलजा को अध्यक्ष बनाया गया. जिससे पार्टी को दलित विरोधी नहीं कहा जाए. कुमारी शैलजा भी कांग्रेस में दलित समुदाय का बड़ा चेहरा मानी जाती हैं.

तंवर हरियाणा चुनाव के लिए कांग्रेस उम्मीदवारों को टिकट देने से नाराज़ थे. तंवर ने आरोप लगाया कि सोहना विधानसभा सीट पांच करोड़ में बेची गई है.

अशोक तंवर ने बिना नाम लिए भूपेंद्र हुड्डा पर आरोप लगाते हुए कहा, ”वो बीजेपी के लोगों के साथ मिले हुए हैं. कई सीटें ऐसी हैं जहां वो इंडियन नेशनल लोक दल और बीजेपी के कहने पर टिकट दे रहे हैं जिन मेरे साथियों ने पिछले पांच साल सड़क पर संघर्ष किया उनकी राजनीतिक हत्या करने का प्रयास हो रहा है.”

अशोक तंवर ने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा कि यह राजनीतिक हत्या का प्रयास हो रहा है. सोनिया गांधी ने हमेशा न्याय किया है और मुझे उम्मीद है कि हमें भी न्याय मिलेगा.

हालांकि कुछ जानकार बताते हैं कि अशोक तंवर जल्द ही बीजेपी ज्वाइन कर सकते हैं.

 

Related Posts