चुनाव के समय नहीं बढ़ाना चाहता परेशानी, कोई कहेगा तो 90 की 90 सीटों पर करूंगा प्रचार: अशोक तंवर

कांग्रेस नेता अशोक तंवर ने पांच साल जिन लोगों ने मेहनत की है, कांग्रेस के लिए खून-पसीना एक किया...उनकी अनदेखी न हो.

हरियाणा में विधानसभा चुनाव की तैयारियां जोरों पर हैं. भाजपा, कांग्रेस समेत सभी दलों ने चुनाव के मद्देनजर कमर कस ली है. इसी बीच कांग्रेस के भीतर कुछ अनबन की खबरें आ रही हैं. चुनाव से ठीक पहले राज्य कांग्रेस की कमान गंवाने के बाद अशोक तंवर से टीवी 9 भारतवर्ष ने खास बातचीत की है. तंवर ने इस दौरान कई मुद्दों पर खुलकर अपनी बात रखी.

तंवर ने कहा, “सब लोग अपना-अपना काम कर रहे हैं. मैं अपना काम कर रहा हूं. लक्ष्य हम सबका एक है- 85 पार, भाजपा बाहर. कुछ लोगों को हमेशा पहले से ही पेरशानी रही थी. मेरे साथ बैठने में, मेरे साथ मंच साझा करने में.”

‘नहीं बढ़ाना चाहता किसी की परेशानी’
उन्होंने कहा कि ‘ठीक चुनाव के समय पर किसी की परेशानी बढ़ाना नहीं चाहता. इसलिए मैंने फैसला किया कि वो अपना काम करें. मैं अपना काम करूंगा. हमारी लड़ाई अब यह है कि पांच साल जिन लोगों ने मेहनत की है, कांग्रेस के लिए खून-पसीना एक किया है, लाठी-डंडे खाये, जनहित के मुद्दे उठाए… उनकी अनदेखी न हो यह सुनिश्चित करना मेरी जिम्मेदारी है.’

कांग्रेस नेता ने कहा कि अगर कोई कहेगा तो 90 की 90 सीटों पर उतर कर प्रचार करूंगा. मैंने पहले ही मना कर दिया है कि कोई भी साथी जिसने लोकसभा का चुनाव लड़ा है. ना तो उसको लड़ना चाहिए और न तो जितने भी वरिष्ठ लोग हैं जो कई कई बार पदों पर रह लिए है, उनको युवाओं को मौका देना चाहिए.

उन्होंने कहा, “जो लोग 5-6 बार चुनाव हार चुके हैं, फिर भी कह रहे हैं कि उनको टिकट मिले चुनाव लड़ने के लिए वो ठीक नहीं है. युवा लोगों को मौका देना चाहिए. 36 बिरादरी के लोगों को मौका देना चाहिए. न कि बार-बार हारने वालों को.”

‘हम भाजपा हटाने की बात कर रहे’
तंवर ने कहा कि ‘हवा बदल गई है. वो किस हवा की बात कर रहे हैं मुझे नहीं पता. लेकिन ये भी सच है कि एक बड़ा वर्ग है जो पिछले 5 साल से संघर्ष करती रही कांग्रेस के लिए, कुछ लोग अपने लिए संघर्ष कर रहे थे. वो तंवर को हटाने की बात कर रहे थे. हम भाजपा हटाने की बात कर रहे थे. अब देखने ये है कि जनता किस तरह की सोच को चुनकर आगे लाती है.’

उन्होंने कहा कि हरियाणा कांग्रेस की बैठकों में जाने का मामला दूसरा है. अब देखिए न कि घोषणा पत्र के लिए बैठक हुई लेकिन घोषणा पत्र 18 अगस्त को रोहतक में घोषित हो जाता है. मैं काम में विश्वास करता हूं, टोकेनिस्म में नहीं. मोदी का कोई फैक्टर काम नहीं करेगा. लोकल फैक्टर काम करेगा. अनुच्छेद 370 पर जो पार्टी का स्टैंड है, वही मेरा स्टैंड है.

ये भी पढ़ें-

370 हटने से पहले कश्मीर का ‘बहुत बुरा हाल’ था, ‘टेररिस्तान’ से नहीं कर सकते बात: एस जयशंकर

RBI ने PMC पर लगाया 6 महीने का प्रतिबंध, जानें कैसे 35 साल पुराने बैंक को ले डूबा एक खाता

लुंगी-चप्पल पहनकर गाड़ी चलाने पर कटेगा चालान? नितिन गडकरी ने अफवाहों से किया सावधान

Related Posts