छत्तीसगढ़: चिटफंड कंपनी की 7 करोड़ से अधिक की संपत्ति कुर्क, निवेशकों को लौटाई जाएगी जल्द

राजनांदगांव में चिटफंड कंपनी के संचालक प्रेम देवांगन की संपत्ति कुर्क की गई. इसके बाद सात करोड़ 61 लाख से अधिक की राशि शासन के खाते में जमा कर दी गई.

छत्तीसगढ़ में चिटफंड कंपनियों के खिलाफ अभियान जारी है. इसी क्रम में राजनांदगांव की एक चिटफंड कंपनी की सात करोड़ 61 लाख रुपये की संपत्ति कुर्क की गई. यह राशि शासन के खाते में जमा कर दी गई.

आधिकारिक तौर पर दी गई जानकारी में बताया गया, “राजनांदगांव में चिटफंड कंपनी के संचालक प्रेम देवांगन की संपत्ति कुर्क कर सात करोड़ 61 लाख से अधिक की राशि शासन के खाते में जमा कर दी गई है. यह राशि निवेशकों को शीघ्र ही लौटाने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है.”

इसके आगे बताया गया कि इसी प्रकार बिलासपुर जिले में चिटफंड कंपनी के संचालक कमलेश सिंह की संपत्ति कुर्क हुई. इसके बाद दो लाख 80 हजार की राशि निवेशक को प्रदान की गई है.”

पुलिस महानिदेशक डी. एम. अवस्थी ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि चिटफंड कंपनियों के एजेंटों पर चल रहे प्रकरणों को न्यायालय के माध्यम से शीघ्र ही वापस ले. साथ ही कंपनियों के संचालकों की संपत्तियां कुर्क कर निवेशकों को शीघ्र ही राशि लौटाने की प्रक्रिया शुरू की जाए.

दूसरी तरफ, हजारों करोड़ रुपये के रोज वैली चिट फंड घोटाले की जांच में नई जानकारियां सामने आई हैं. इस साथ ही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अभिनेत्री शुभ्रा कुंडू पर शिकंजा कसा है.

शुभ्रा, रोज वैली चेयरमैन गौतम कुंडू की पत्नी हैं. शुभ्रा के खिलाफ शुक्रवार को लुकआउट नोटिस भेजने के बाद ईडी अधिकारी बंगाली अभिनेत्री की विदेश की संपत्तियों को लेकर पूछताछ करने पर विचार कर रही है. इन विदेश की संपत्तियों का खुलासा हाल में गौतम कुंडू के धनशोधन गिरोह के सुराग से चला है.

शुभ्रा से पूछताछ से बंगाल की राजनेताओं की नींद हराम हो सकती है, जो उसके साथ करीबी तौर पर जुड़े हैं. ईडी में शीर्ष सूत्रों ने खुलासा किया कि शुभ्रा के कोलकाता छोड़ने की विशिष्ट जानकारी के मद्देनजर उसके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया.                   (आईएएनएस)

ये भी पढ़ें-

हैदराबाद गैंगरेप पीड़िता के पिता बोले- बढ़ रहा अत्याचार, कानून बने सख्त, दोषियों को दें फांसी

फेसबुक पर हैदराबाद गैंगरेप पीड़िता के खिलाफ की अश्लील टिप्पणी, पुलिस ने किया गिरफ्तार

शर्मनाक: पहले लूटपाट फिर गैंगरेप उसके बाद 65 साल की महिला को उतारा मौत के घाट