सीरम इंस्टीट्यूट दोबारा शुरू करेगा कोविड-19 वैक्सीन का ट्रायल, डीजीसीआई की मंजूरी का इंतजार

अदार पूनावाला (Adar Poonawalla) ने ट्वीट किया, "जैसा कि मैंने पहले कहा था, जब तक ट्रायल पूरा न हो जाए तब तक हमें किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचना चाहिए. हाल की घटनाएं इसका साफ उदाहरण हैं कि हमें प्रक्रिया के साथ पक्षपात नहीं करना चाहिए और उसके पूरा हो जाने तक सम्मान करना चाहिए."

फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका (Pharma Company AstraZeneca) ने इंग्लैंड में दोबारा कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) का ट्रायल (Trial) शुरू करने की घोषणा की है. इस घोषणा के तुरंत बाद ही एस्ट्राजेनेका के भारतीय पार्टनर सीरम इंस्टीट्यूट (Serum Institute) ने कहा है कि वो भी ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) से मंजूरी मिलते ही ट्रायल फिर से शुरू कर देगा. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है.

पूनावाला ने ट्वीट किया, “जैसा कि मैंने पहले कहा था, जब तक ट्रायल पूरा न हो जाए तब तक हमें किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचना चाहिए. हाल की घटनाएं इसका साफ उदाहरण हैं कि हमें प्रक्रिया के साथ पक्षपात नहीं करना चाहिए और उसके पूरा हो जाने तक सम्मान करना चाहिए.”

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने दोबारा शुरू किया ट्रायल

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने एक बयान में कहा कि यूके की मेडिसिन हेल्थ रेगुलेटरी अथॉरिटी (MHRA) ने सिफारिश की थी कि सुरक्षा डेटा की स्वतंत्र समीक्षा के बाद ट्रायल फिर से शुरू किया जाए, जिसे 6 सितंबर को रोक दिया गया था. हालांकि, इस बयान में वॉलंटियर के बारे में ज्यादा जानकारी देने से ऑक्सफोर्ड ने इनकार कर दिया है.

दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने कहा कि यूके कमेटी ने अपनी जांच पूरी करने के बाद MHRA से सिफारिश की है कि यूके में ट्रायल को फिर शुरू किया जा सकता है और यह सुरक्षित है. हालांकि, शनिवार को एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड दोनों ने ही अपने बयानों में यूके से बाहर वैक्सीन के ट्रायल को शुरू करने बारे में कुछ नहीं कहा है.

ट्रायल के दौरान वॉलंटियर को हुआ गंभीर रिएक्शन

बता दें कि ऑक्सफोर्ड और एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन के ट्रायल के दौरान एक वॉलंटियर पर गंभीर रिएक्शन देखने को मिले थे, जिसके बाद वैक्सीन के लेट स्टेज ट्रायल को रोक दिया गया था. कोरोना वैक्सीन बनाने की मुहिम में अब तक ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका सबसे आगे चल रही थी.

वहीं, भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया इस वैक्सीन का ट्रायल कर रहा था, जिसे बाद में रोक दिया गया था.  सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने अपने एक बयान में कहा था कि स्थिति की समीक्षा की जा रही है और जब तक फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका दोबारा ट्रायल शुरू नहीं करती, तब तक भारत में चल रहे ट्रायल को रोका जा रहा है.

Related Posts