बाहुबली अतीक अहमद जेल से चला रहा अपना धंधा, ऑडियो वायरल

वायरल ऑडियो में धूमनगंज में 200 वर्गगज जमीन की रजिस्ट्री कराने के विवाद का जिक्र हो रहा है.

भू माफिया और पूर्व सांसद अतीक अहमद गुजरात के अहमदाबाद की जेल में बंद है. अतीक अहमद की दबंगी जेल में भी कायम है. उसने जिस प्रॉपर्टी डीलर मो. जैद को प्रयागराज से अगवा कर देवरिया जेल में पिटवाया था, उससे फोन पर हुई बातचीत का ऑडियो वायरल हो रहा है.

इस बातचीत में धूमनगंज में 200 वर्गगज जमीन की रजिस्ट्री कराने के विवाद का जिक्र हो रहा है. जैद ने अतीक के मना करने के बाद भी उस जमीन की रजिस्ट्री करा ली थी. इससे अतीक गुस्से में आ गया और उसने देवरिया जेल में जैद की पिटाई कर दी थी.

जैद ने जमीन को लेने के लिए आबिद प्रधान और फरहान ने करार किया था. उन्हीं के कहने पर जैद ने जमीन खरीद ली थी. रंगदारी के इस मामले में अतीक के करीबी शूटर फरहान को गिरफ्तार किया जा चुका है. पुलिस को आबिद प्रधान की तलाश है.

यह कोई पहला मौका नहीं है जब अतीक का ऑडियो वायरल हुआ है. इससे पहले देवरिया जेल में बंद होने के दौरान भी अतीक ने बसपा के पूर्व नेता से रंगदारी मांगी थी. उस वक्त भी आडियो वायरल हुआ था.

अतीक इस बातचीत में कहता है कि ‘जब तुमने रजिस्ट्री कराई थी तब भी हमको मालूम था. अगर इतना काम कर रहे तो हम कह रहे हैं कि एक जमीन की रजिस्ट्री मत कराना, चाहे आबिद कहे या फरहान, मना कर देते कि मैंने कहा है.’

अतीक आगे कहता है कि ‘तुमका एक हाथ मारी, क्योंकि तुम्हारा भूत नहीं उतर रहा कि प्रधान कहेन प्रधान कहेन समझे कि नाही. आबे हमसे तोर प्रधान से पहले से रिश्ता है.’

बता दें कि फिलहाल वायरल ऑडियो की पुष्टि नहीं हो पाई है. पुलिस इसकी जांच कर रही है. पुष्टि होने के बाद ही पुलिस कारवाई की बात कह रही है.

गौरतलब है कि 1992 में इलाहाबाद पुलिस ने बताया कि अतीक अहमद के खिलाफ उत्तर प्रदेश के लखनऊ, कौशाम्बी, चित्रकूट, इलाहाबाद ही नहीं बल्कि बिहार में भी हत्या, अपहरण, उगाही आदि के मामले दर्ज हैं.

अतीक अहमद के खिलाफ सबसे ज्यादा मामले इलाहाबाद जिले में ही दर्ज हुए. 1986 से 2007 तक ही उसके खिलाफ एक दर्जन से ज्यादा मामले केवल गैंगस्टर एक्ट के तहत दर्ज किए गए.

ये भी पढ़ें-

दिल्ली अग्निकांड: फैक्ट्री मालिक गिरफ्तार, IPC की धारा 304 के तहत केस दर्ज

दिल्ली अग्निकांड: CM केजरीवाल ने की 10 लाख के मुआवजे की घोषणा, PMO-BJP भी देंगे सहायता राशि

दिल्ली का सबसे बड़ा अग्निकांड, सोते-सोते घुटा 43 लोगों का दम, हादसे की न्यायिक जांच के आदेश