कानपुर कांड के बाद मोबाइल गांव में ही छोड़ ठाणे पहुंच गया था विकास का शागिर्द गुड्डन, ATS ने उठाया

गुड्डन त्रिवेदी (Guddan Trivedi) ठाणे में गांव के एक जान-पहचान वाले के घर पर रुका जहां से वह पुलिस की हर कार्रवाई की पल-पल की खबर टीवी के माध्यम से ले रहा था.विकास दुबे (Vikas Dubey) के एनकाउंटर के बाद गुड्डन बहुत डर गया था,
ATS arrested 2 suspects of kanpur shootout, कानपुर कांड के बाद मोबाइल गांव में ही छोड़ ठाणे पहुंच गया था विकास का शागिर्द गुड्डन, ATS ने उठाया

कानपुर मामले में वांटेड आरोपी गुड्डन त्रिवेदी और सोनू को ATS ने मुंबई से सटे ठाणे से गिरफ्तार किया है. इसकी जानकारी STF को दे दी गई है. ATS में तैनात एनकाउंटर स्पेशलिस्ट दया नायक को जानकारी मिली थी कि कानपुर के आरोपी स्वर थाना में हैं, जिसके बाद इन्हें गिरफ्तार किया गया.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

आज पकड़ा गया गुड्डन त्रिवेदी (Guddan Trivedi) हत्याकांड को अंजाम देने के बाद भागने से पहले अपना फोन गांव के पास ही एक दुकान पर छोड़ कर गया. इसके बाद वह अपने ड्राइवर के साथ दतिया तक कार से आया और फिर वहां से ट्रक के जरिए नासिक और फिर दूसरी ट्रक से पुणे होते हुए ठाणे पहुंचा.गुड्डन त्रिवेदी ठाणे में गांव के एक जान-पहचान वाले के घर पर रुका, जहां से वह पुलिस की हर कार्रवाई की पल-पल की खबर टीवी के जरिए ले रहा था.

विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद गुड्डन बहुत डर गया था, साथ ही जिसके घर में रुका हुआ था वह लोग भी चाह रहे थे कि घर से गुड्डन चला जाए. क्योंकि STF उन लोगों को भी गिरफ्तार कर रही है या फिर सख्ती बरत रही है, जो इन आरोपियों को अपने घरों पर रोक रहे हैं. इससे वो लोग डरे हुए थे, लेकिन गुड्डन के दबदबे के चलते उसे अपने घर से जबरन नहीं निकाल पा रहे थे.

ATS ने उन दो लोगों को भी हिरासत में लिया है और उनकी संलिप्तता की भी जांच की जा रही है. ATS की पूछताछ में इन्होंने 2001 में राज्यमंत्री की पुलिस स्टेशन में हुई हत्या की बात भी कबूली है. गिरफ्तार आरोपियों में एक अरविंद त्रिवेदी उर्फ गुड्डन और दूसरा सुशील कुमार तिवारी उर्फ सोनू है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts